पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कीट विज्ञान विशेषज्ञ की किसानों सलाह:कपास पर गुलाबी बॉल वार्म के हमले का डर, सतर्क रहें

लुधियाना7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब कृषि विश्वविद्यालय (पीएयू) के कीट विज्ञान विशेषज्ञ ने किसानों को कपास के खेतों की नियमित रूप से निगरानी करते रहने की सलाह दी है ताकि गुलाबी सूंडी का संक्रमण से फसल को समय रहते बचाया जा सके। कीट विज्ञानी डॉ.अमनदीप कौर ने पिंक बॉल वार्म के इतिहास का जिक्र करते हुए कहा कि यह कीट पहले दक्षिणी भारत में बीटी कपास पर देखा गया था। 2018 में यह पहली बार उत्तर भारत में हरियाणा के जींद जिले में

देखा गया और 2019 और 2020 में इसने बठिंडा के विभिन्न गांवों में कपास पर हमला किया। उन्होंने चेताया कि मानसा जिले में पीएयू के विशेषज्ञों द्वारा हाल ही में किए गए सर्वेक्षण के अनुसार पिंक बॉल वार्म के हमले से कुछ जगहों पर फसल को नुकसान हुआ है। डॉ. कौर ने कपास उत्पादकों से सतर्क रहने और बीटी कपास पर गुलाबी बॉल वार्म की कोई घटना पाए जाने पर पीएयू विशेषज्ञों से संपर्क करने का आग्रह किया।

खबरें और भी हैं...