दुर्व्यवहार:पहले सीएचसी के डॉक्टर से बुजुर्ग ने किया दुर्व्यवहार, फिर मांगी माफी

लुधियानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पोती को दिखाने आया था बुजुर्ग, इमरजेंसी में इलाज कराने पर अड़ा

माछीवाड़ा के सीएचसी में बुजुर्ग ने बुधवार दोपहर जमकर हंगामा किया। गांव उप्पला का बुजुर्ग पोती को दिखाने आया था। वह पोती को दिखाने सीधे इमरजेंसी में पहुंचा, जहां डॉक्टर ने बुजुर्ग से कहा कि वो ओपीडी के डॉक्टर को दिखाएं। कई बार समझाने पर बुजुर्ग नहीं माना और भड़क गया। बुजुर्ग ने अपशब्दों का प्रयोग कर स्टाफ से भी दुर्व्यवहार किया। घटना दोपहर 12.30 बजे की है। बुजुर्ग के इस व्यवहार से इमरजेंसी में काफी भीड़ जमा हो गई। तब भी बुजुर्ग जिद पर अड़ा रहा कि वो यहीं जांच करवाएगा।

बुजुर्ग ने डॉक्टर की लिखी पर्ची भी फाड़ डाली और बीच-बचाव करने आए स्टाफ से धक्का-मुक्की की। इसके बाद डॉक्टर ने पुलिस को सूचित किया। साथ ही डॉक्टर ने पीसीएमएस एसोसिएशन को फोन कर दिया। इस पर एसोसिएशन की रेपिड रेस्पॉन्स टीम के सदस्य डॉ. मिलन वर्मा, डॉ. चरण कमल और डॉ. चमनजीत सिंह माछीवाड़ा पुलिस स्टेशन पहुंचे और डॉक्टर के साथ अभद्र व्यवहार करने वाले बुजुर्ग के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। पुलिस ने डॉक्टरों की शिकायत पर तुरंत एक्शन लेकर बुजुर्ग को थाने बुलाया। जहां बुजुर्ग ने गलती स्वीकार कर माफी मांगी। बुजुर्ग की उम्र को ध्यान में रखकर डॉक्टर ने बिना शर्त माफी स्वीकार कर ली और आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज नहीं करने का फैसला लिया। पीसीएमएसए लुधियाना के महासचिव डॉ. धीरज सिंगला ने कहा कि डॉक्टर ने माफी स्वीकार कर ली है। हम इस बारे में उनके लिए निर्णय का सम्मान करते हैं। वहीं, एसोसिएशन के पंजाब अध्यक्ष डॉ. अखिल सरीन ने कहा पीसीएमएसए डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा से संबंधित मामलों में जीरो टॉलरेंस की नीति का पुरजोर समर्थन करता है।

खबरें और भी हैं...