लुधियाना में युवती की हत्या का मामला बना रहस्य:14 दिन बाद भी नहीं हो सकी मृतका की शिनाश्त; गला दबाकर हुआ था मर्डर, शव को जलाकर झाडियों में फेंका

लुधियाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्म फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्म फोटो।

लुधियाना के फोकल पॉइंट एरिया में युवती की मिली लाश के बाद से इसका रहस्य और गहरा हो गया है। जांच में खुलासा हुआ है कि उसकी हत्या गला दबाकर की गई है और उसका शव जलाकर झाडियों में फेंक दिया गया। पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर हत्या का मामला तो दर्ज किया है मगर ना तो युवती की शिनाख्त ही हो रही है और ही हत्या के संबंध में कोई सबूत ही पुलिस के हाथ लगा है। यह पूरा मामला रहस्यमय होता जा रहा है। घटनाक्रम दो सप्ताह पुराना है। अब शक है कि उसके साथ दुष्कर्म हुआ हो सकता है।

जानकारी के अनुसार 15 सितंबर को फोकल पॉइंट एरिया में पुलिस को एक युवती का शव जली हुई हालत में झाड़ियों में पड़ा मिला था। जिसे पुलिस ने हिरासत में लेकर सिविल अस्पताल में रखवाया गया था। इसका पोस्टमार्टम डॉक्टरों के एक पैनल की तरफ से किया गया है। जिसकी रिपोर्ट के अनुसार युवती की हत्या गला दबाकर की गई है और उसकी शिनाख्त न हो पाए इसके लिए उस पर कोई ज्वलनशील पदार्थ डालकर कर आग लगा दी गई। हैरत की बात यह है कि पुलिस चौदह दिन में युवती की शिनाख्त तक नहीं कर पाई है और अभी तक पुलिस के पास ऐसा कोई सबूत हाथ नहीं लगा है। जिससे हत्यारों तक पहुंचा जा सके।

14 दिन में शिनाख्त नहीं, हत्यारों का भी पता नहीं
14 दिन पहले ही युवती का शव किसी राहगीर ने देखा था और पुलिस को इसकी सूचना दी गई थी। इसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। युवती का शव बुरी तरह से जला हुआ है, उसके तन पर पूरे कपड़े भी नहीं मिले हैं और चेहरा बुरी तरह से बरबाद हो चुका है। जिस कारण ही पुलिस के लिए उसकी शिनाख्त करना बड़ी समस्या बनी हुई है।

दुष्कर्म के बाद की हो सकती है हत्या
यह भी शक जाहिर किया जा रहा है कि युवती से पहले दुष्कर्म किया गया था और बाद में उसकी हत्या कर दी गई। इसके लिए उसका स्वेब लेकर टेस्ट के लिए खरड़ लैब में भेजा गया है और वहां पर इसकी जांच की जा रही है। इसकी रिपोर्ट के बाद इस पर भी खुलासा हो जाएगा कि क्या उसके साथ दुष्कर्म भी हुआ था।

कई पेचीदगियां हैं, फोरेंसिक माहिरों से मिल हो रही जांच
हमारे सामने कई तरह की पेचीदगियां हैं, जिस कारण जांच में समस्या खड़ी हो रही है। शव पूरी तरह से जला हुआ है, युवती की सही उम्र भी पता नहीं लग पाई है। 14 दिन बाद यह ही कलियर हो सका है कि उसकी हत्या गला दबाकर हुई है। हमारे पास कुछ फोरेंसिक टीम द्वारा जुटाए गए सबूत हैं और इसी पर ही जांच को आगे बढ़ाया जा रहा है। हम बड़ी गंभीरता से मामले को देख रहे हैं और उमीद है कि जल्द ही किसी नतीजे पर पहुंचेंगे।
इंसपेक्टर दविंदर कुमार, प्रभारी थाना फोकल पॉइंट

खबरें और भी हैं...