सिद्दू के ब्यान पर सरकार का जवाब:सिद्दू के अरोप पर सरकार का जवाब, डेरा प्रमुख को कभी कलीन चिट नहीं दी

लुधियाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
संत गुरमीत राम रहीम इंसां - Dainik Bhaskar
संत गुरमीत राम रहीम इंसां

नवजोत सिंह सिद्दू द्वारा डीजीपी इकबाल सिंह सहोता पर सवाल खड़े करने के बाद सरकार की तरफ से जवाब आया है। इसमें कहा गया है कि बेअदबी मामलों में कभी डेरा सच्चा सौदा प्रमुख संत गुरमीत रात रहीम सिंह को कभी कलीन चिट नहीं दी गई है। यहां जारी ब्यान में कहा गया है कि डायरेक्टर जरनल आफ पुलिस लगाए गए इकबाल सिंह सहोता द्वारा 2015 में बरगाड़ी बेअदबी मामले की जांच के दौरान संत गुरमीत राम रहीम को कलीन चिट देने की खबरों को निराधार बताया है। बता दें कि 12 अक्तूबर 2015 को गांव बरगाड़ी में पावन श्री गुरु ग्रंथ साहिब के अंग बिखरे हुए पाए गए थे और पुलिस स्टेशन बाजाखाना में आपराधिक मामला दर्ज किया गया था। गांव बरगाड़ी में पावन श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के मामले की जांच इकबाल प्रीत सिंह सहोता जो तब डायरेक्टर ब्यूरो आफ इनवेस्टीगेशन थे की अगुवाई वाली एसआईटी ने जांच की थी। ब्यान में सपष्ट किया गया है कि उनकी ओर से 20 दिन 14 अक्तूबर तक इस मामले की जांच की गई थी और इसके बाद इसकी जांच सीबीआई को सौंप दी गई थी। ब्यान के अनुसार पूरी जांच सीबीआई की तरफ से की गई थी नाकि इकबाल प्रीत सिंह सहोता की अगुवाई वाली एसआईटी की ओर से। इस लिए डेरा प्रमुख संत गुरमीत राम रहीम को किसी ने कोई कलीन चिट नहीं दी है। सिद्दू ने वीडियो में उठाए थे सवाल नवजोत सिंह सिद्दू की तरफ से पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पद से इस्तीफा देने के बाद पहला प्रतिक्रम देते हुए सहोता की नियुक्ति पर सवाल उठाते हुए बेअदबी मामलों की जांच का भी मुद्दा उठाया था। इसके बाद से इस पर कई तरह की चर्चाएं हो रही हैं। जिस पर अब सरकार का जवाब आया है।

खबरें और भी हैं...