पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पीएयू की रिसर्च:अमरूद से बने उत्पाद इम्युनिटी बढ़ाने, कैंसर का खतरा घटाने में मददगार

लुधियाना2 महीने पहलेलेखक: मनप्रीत कौर
  • कॉपी लिंक
  • साइंटिस्टों ने अमरूद के फायदों को देखते हुए डेढ़ साल तक कई ट्रायल के बाद तैयार किए जूस, बेवरेज और पापड़

एक अमरूद रोज खाओ, डॉक्टर को दूर भगाओ। सेब की तरह अमरूद भी फलों में गुणकारी माना गया है, लेकिन अमरूद के मुकाबले सेब महंगा होता है। पंजाब में किन्नू के बाद अमरूद गुणकारी और सस्ता माध्यम है। बेहद सामान्य फल होने के कारण ज्यादातर लोगों को पता ही नहीं होता है कि ये स्वास्थ्य के लिहाज से कितना फायदेमंद होता है। ये पेट की बहुत-सी बीमारियों को दूर करने में सक्षम है। अमरूद में विटामिन-सी की पर्याप्त मात्रा होती है। इससे अनेक बीमारियों में फायदा होता है। साथ ही ये इम्युन सिस्टम को भी मजबूत बनाता है।

गुलाबी गूदे वाला अमरूद सेहत के लिए अधिक गुणकारी और एंटी ऑक्सीडेंट भी

अमरूद हाई एनर्जी फ्रूट है। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन और मिनरल पाए जाते हैं। ये तत्व हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी होते हैं। इसमें पोटेशियम और फाइबर होता है। अमरूद में मौजूद लाइकोपीन नामक फाइटो न्यूट्रिएंट्स शरीर को कैंसर के खतरे से बचाने में मददगार होते हैं। इसकी दो वैरायटी बाजार में मिलती हैं- एक सफेद और एक गुलाबी गूदा वाला अमरूद।

सफेद की अपेक्षा गुलाबी गूदे वाला अमरूद सेहत के लिए और भी गुणकारी होता है, क्योंकि इसमें लाइकोपीन नामक तत्व होता है, जो एंटी ऑक्सीडेंट होता है। पीएयू की फूड साइंस और टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट की हेड पूनम अग्रवाल सचदेवा और वेजिटेबल टेक्नोलॉजिस्ट डिपार्टमेंट ऑफ फूड साइंस और टेक्नोलॉजी की असिस्टेंट डॉ. सुखप्रीत कौर ने बताया कि अमरूद में मौजूद विटामिन और खनिज शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाने में मददगार होते हैं। इस वजह से अमरूद पर रिसर्च बेस्ड टेक्नोलॉजी तैयार की है।

अमरूद पापड़ 1 साल तक हो सकता है इस्तेमाल

इसके अलावा न्यूट्रीशनल एनर्जी अमरूद पापड़ बनाया गया है। ये आम पापड़ की तरह ही होता है। अमरूद के गूदे में चीनी डालकर मिलाया जाता है। मैकेनिकल ड्रांइग से तापमान कंट्रोल किया जाता है। इसके लिए अलग-अलग टेंपरेचर पर कई ट्रायल लिए गए। इसमें वॉटर एक्टिविटी कंट्रोल की जाती है। यह रिसर्च डेढ़ साल तक जारी रहा। यह प्रोडक्ट भी सामान्य तापमान पर लंबे समय तक रह जाता है। इंटर मीडिएट मॉयश्चर फूड के तहत ये प्रोडक्ट आते हैं। इनमें पानी की मात्रा 15 से 50 फीसदी तक होती है। अमरूद पापड़ में 25 से 26 फीसदी तक होता है। ये सामान्य तापमान पर सेल्फ स्टेबल होते हैं। फ्रिज से ज्यादा कमरे के तापमान पर सही रहता है। दरअसल फ्रिज मॉयश्चर उड़ा देता है। फ्रिज में डेढ़ महीना ही रह सकता है, जबकि कमरे के तापमान में एक साल तक भी बढ़िया रहता है। बच्चों के लिए भी बहुत फायदेमंद है। इससे तुरंत एनर्जी मिलती है।

सफेद-गुलाबी गूदे वाली दोनों वैरायटी का किया इस्तेमाल

डॉ. पूनम और डॉ. सुखप्रीत ने बताया कि अमरूद के पल्प वाले प्रोडक्ट डेवलप किए हैं। इसमें सफेद और गुलाबी गूदे वाली दोनों ही वैरायटी का इस्तेमाल किया गया है। अमरूद से जूस और बेवरेज बनाए हैं। रेडी टू सर्व ड्रिंक, स्क्वैश, जैम और जैली भी शामिल है। हर प्रोडक्ट में नेचुरल कलर मिलाए गए हैं। इनकी शेल्फ लाइफ 6 माह है। जबकि बाजार में मिलने वाले जूसों में केमिकल प्रिजर्वेटिव मिलाए जाते हैं। केमिकल कलर और शुगर की मात्रा भी ज्यादा होती है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें