• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • Gurunanak Stadium Road Will Remain Closed Till Afternoon, Will Be Able To Go From Bharat Nagar Chowk To Jagraon Bridge

सुरक्षा व्यवस्था:गुरुनानक स्टेडियम रोड दोपहर तक रहेगी बंद भारत नगर चौक से जगराओं पुल तक जा सकेंगे

लुधियाना10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
2800 पुलिस मुलाजिम रहेंगे तैनात, शहर में लगाए गए 19 नाके - Dainik Bhaskar
2800 पुलिस मुलाजिम रहेंगे तैनात, शहर में लगाए गए 19 नाके

गणतंत्र दिवस को लेकर पुलिस ने अपनी तैयारी मुक्कमल कर ली है। इसके लिए सिर्फ गुरुनानक स्टेडियम का रूट डायवर्ट किया गया है, जबकि बाकी का ट्रैफिक सिस्टम रोज की तरह चलेगा। वहीं, सुरक्षा इंतजामों को जांचने के लिए अधिकारी वीडियो काॅल्स की मदद भी ले रहे हैं, ताकि सुरक्षा में किसी तरह की कोई कोताही न बरती जाए। इसके अलावा थानों को भी सख्त हिदायतें दी गई हैं। सीपी मंदीप सिद्धू ने शहर की सारी सुरक्षा इंतजामों का अधिकारियों के साथ मिलकर जायजा लिया।

गुरुनानक स्टेडियम में झंडा फहराने की रस्म की जाएगी। लिहाजा इस रोड को पूरी तरह से ब्लाॅक कर दिया जाएगा। यहां सिर्फ पुलिस की सुरक्षा तैनात रहेगी। अगर किसी को जगराओं पुल की तरफ जाना है तो उसे फव्वारा चौक से भारत नगर चौक की तरफ से होकर पुल की तरफ जाना होगा। इस रास्ते को बुधवार रात से बंद कर दिया जाएगा और वीरवार को बाद दोपहर खोला जाएगा। बाकी पूरे शहर का ट्रैफिक वैसे ही चलेगा, जैसे पहले चलता है।

पुलिस द्वारा 2800 से ज्यादा मुलाजिम सुरक्षा में लगाए जा रहे हैं। इनमें से 800 मुलाजिम झंडा फहराने वाले स्थल यानि स्टेडियम के आसपास तैनात रहेंगे। जबकि बाकी के 2 हजार मुलाजिमों को शहर में तैनात किया जाएगा। इन मुलाजिमों की मदद से 19 नाके और अलग-अलग जगहों पर होने वाले कार्यक्रम स्थलों पर लगाया जाएगा। जोकि शहर के सभी एंट्री प्वाइंट्स और सार्वजनिक स्थलों की सुरक्षा करेंगे।

चेकिंग का वीडियो शेयर करने का आदेश
शहर में लगाए गए नाकों पर मुलाजिमों की मुस्तैदी को जांचने के लिए अधिकारी रात को मुलाजिमों को वीडियोकाॅल करके चेक करते रहे कि वो नाके पर हैं या नहीं? इसके साथ ही उक्त मुलाजिमों को नाकों की वीडियो बनाकर शेयर करने के लिए कहा कि कहां पर क्या हालात हैं। इसके अलावा सभी अधिकारियों को सीपी ने टाॅस्क दिया है कि वो सुरक्षा की सुपरविजन करें। अगर कोई कोताही बरतता दिखाता है तो उसपर एक्शन लें।

थानों में जरूरत के हिसाब से होगा स्टाफ
सुरक्षा की वजह से पुलिस द्वारा थानों से भी मुलाजिम लिए गए हैं। लेकिन उनमें जरूरत के हिसाब से स्टाफ को रखा गया है। जिसमें मुंशी, आईओ(इंवेस्टिगेशन आफिसर) और कांस्टेबल शामिल होंगे। अगर कहीं कोई विवाद हो जाता है तो टीम थाने से मौके पर जा सके, ताकि लोगों को भी परेशानी न झेलनी पड़े।

खबरें और भी हैं...