पंजाब में खुलने जा रहा मुस्लिम कॉलेज:शाही इमाम बोले- हर धर्म की बेटी पढ़ेगी, हिजाब या तिलक पर कोई पाबंदी नहीं

लुधियानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब में मुस्लिम समाज द्व‌ारा हबीब गर्ल्स कॉलेज का निर्माण लुधियाना में किया जा रहा है। यह पंजाब में पहला मुस्लिम कॉलेज होगा, जिसके लिए शहर की ऐतिहासिक जामा मस्जिद में सोमवार को एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में अलग-अलग मस्जिदों के प्रधान साहिबान और इमाम साहिबान व सामाजिक संगठनों के जिम्मेदार शामिल हुए।

मीटिंग में एक ऐतिहासिक फैसला लिया गया। शाही इमाम पंजाब मौलाना मोहम्मद उस्मान रहमानी लुधियानवीं ने ऐलान किया कि मुस्लिम समाज की तरफ से बेटियों के लिए लुधियाना में हबीब गर्ल्स कॉलेज की स्थापना की जा रही है। यह कॉलेज मरहूम शाही इमाम पंजाब मौलाना हबीब उर रहमान सानी लुधियानवीं का सपना था, इसलिए यह उनको ही समर्पित किया गया है।

शाही इमाम ने कहा कि कॉलेज के लिए जगह जालंधर बाइपास के पास ले ली गई है। जल्दी ही कैंपस का डिजाइन फाइनल करके कॉलेज बनाना शुरू कर दिया जाएगा। कॉलेज का स्थापना समारोह 10 सितंबर को आयोजित होगा। यह जनरल कॉलेज होगा। इसमें सर्व धर्म की जरूरतमंद बेटियों को फ्री में शिक्षा दी जाएगी। हर धर्म की बेटी इसमें शिक्षा ग्रहण कर सकेगी।

पहनावे को लेकर कोई पाबंदी नहीं
शाही इमाम ने कहा कि इस कॉलेज में मुस्लिम बेटियां हिजाब, सिख बेटियां दस्तार और हिंदू बेटियों को तिलक लगाकर पढ़ने की आजादी होगी। किसी भी बेटी पर पहनावे को लेकर कोई पाबंदी नहीं लगाई जाएगी। एमए, बीए, सहित सभी डिग्री कोर्स करवाए जाएंगे। कॉलेज की भव्य इमारत को बनाने के लिए शहर और प्रदेश की सभी मस्जिदों के नमाजी योगदान देंगे।

इस काम को सुचारू रूप से चलाने के लिया अहरार फाउंडेशन (NGO) की स्थापना कर दी गई है। कॉलेज के मार्गदर्शन के लिए बुद्धिजीवियों, उद्योगपतियों, नौकरशाही और धार्मिक विद्वानों पर आधारित एडवाइजरी बोर्ड बनाया जा रहा है। कॉलेज का हॉस्टल साथ में ही बनेगा, ताकि पंजाब के सभी शहरों से अल्पसंख्यक समुदाय की बेटियां यहां रह कर शिक्षा हासिल कर सकें।