किसान और अकाली फिर आमने-सामने:फिरोजपुर घटना के बाद हरसिमरत बादल ने रद्द किए कार्यक्रम, मानसा की चुनावी सभा में नहीं पहुंचीं

लुधियानाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
हरसिमरत कौर बादल। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
हरसिमरत कौर बादल। (फाइल फोटो)

फिरोजपुर में अकाली वर्करों और किसानों के बीच झड़प के बाद हरसिमरत बादल ने गुरुवार के अपने कार्यक्रम रद्द कर दिए। हरसिमरत के चुनावी कार्यक्रम मानसा में थे, लेकिन वह आई नहीं। हालांकि कार्यक्रम रद्द करने में शिरोमणि अकाली दल (SAD) ने इनकार किया है। SAD के विधानसभा हलका मानसा से उम्मीदवार प्रेम अरोड़ा ने कहा कि निजी कारणों से कार्यक्रमों को रद्द किया गया है।

किसानों ने हरसिमरत बादल के मानसा दौरे का विरोध करने का ऐलान किया था। किसानों ने गांव भाई देसा में इकट्‌ठे होकर आरोप लगाया कि फिरोजपुर में अकाली दल ने लखीमपुर खीरी की घटना को दौहराने का प्रयस किया।

सुखबीर को भी रद्द करने पड़े थे कार्यक्रम

इससे पहले मोगा में रैली के दौरान पुलिस और किसानों के बीच हुए झगड़े के बाद सुखबीर बादल को गल्ल पंजाब दी कार्यक्रम रद्द करने पड़े थे। संयुक्त किसान मोर्चा की तरफ से एलान किया था कि अगर कोई भी पार्टी चुनाव प्रचार करेगी तो किसान उसका विरोध करेंगे। इसके बाद सुखबीर बादल को अपने पूरे कार्यक्रम रद्द करने पड़े थे। सुखबीर बादल और हरसिमरत बादल ने धीरे-धीरे अपने कार्यक्रम दोबारा शुरू किए थे और इन्हें बढ़ाया था। अब उन्हें फिर विरोध का सामना करना पड़ रहा है।

किसानों ने सभी पार्टियों के साथ की थी मीटिंग

संयुक्त किसान मोर्चा की तरफ से चंडीगढ़ में सभी पार्टियों के साथ बैठक की थी और चेतावनी दी थी कि कोई भी पार्टी कानून रद्द होने तक राजनीतिक प्रचार नहीं करे। किसान संगठनों का कहना है कि अभी चुनाव को लेकर अभी समय है और अगर राजनीतिक पार्टियों के नेता कहते हैं कि वह किसान हितैषी हैं तो चुनाव आचार संहिता लगने तक प्रचार नहीं करें।

खबरें और भी हैं...