ड्रग स्मगलिंग- अफ्रीका से पंजाब वाया हरियाणा:434 करोड़ रुपए की हेरोइन और 50 लाख की ड्रग मनी बरामद, 3 गिरफ्तार

लुधियाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डायरेक्ट्रेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (DRI) ने अफ्रीका से लुधियाना जिले के साहनेवाल में वाया हरियाणा चल रहे ड्रग स्मगलिंग के नेक्सस का भंडाफोड़ करते हुए 434 करोड़ रुपए की 55 किलो हेरोइन बरामद की है। साथ ही 50 लाख रुपए की ड्रग मनी भी बरामद की गई। DRI की टीमों ने यह बरामदगी दिल्ली, हरियाणा और लुधियाना के साहनेवाल से की। टीम ने इस मामले में पकड़े गए तीनों आरोपियों को दिल्ली कोर्ट में पेश कर रिमांड पर ले लिया।

ऑपरेशन ब्लैक एंड व्हाइट

DRI अधिकारियों के मुताबिक अफ्रीका से पंजाब के लुधियाना जिले के साहनेवाल तक हेरोइन की खेप सप्लाई की जा रही थी। ड्रग्स नेक्सेस का पता लगाने के लिए DRI टीम ने ऑपरेशन ब्लैक एंड व्हाइट चलाया। पुख्ता सूचना थी कि युगांडा के एंटेबे से शुरू होने वाला कार्गो दुबई के रास्ते नई दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय (IGI) हवाई अड्डे के एयर कार्गो कॉम्प्लेक्स में 10 मई को पहुंचा था।

इन ट्राॅली बैगों की मेटल ट्यूब में छिपा कर लाई गई करोड़ों की हेरोइन।
इन ट्राॅली बैगों की मेटल ट्यूब में छिपा कर लाई गई करोड़ों की हेरोइन।

55 किलो हेरोइन "ट्रॉली बैग" में मिली

दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंचे कार्गो में "ट्रॉली बैग" होने की घोषणा की गई थी। DRI टीम ने चेकिंग में पाया कि एक इम्पोर्टेड कार्गो खेप में कुल 55 किलो हेरोइन है, इसे टीम ने जब्त कर लिया। इम्पोर्ट हुए माल में 330 ट्रॉली बैग थे। 126 ट्रॉली बैगों की मेटल के अंदर ट्यूब छिपाकर रखी थी। इसका पता लगाना आसान नहीं था।

शू लैंड में मिली 818 ग्राम हेरोइन

साहनेवाल के रामगढ एरिया स्थित शू लैंड दुकान के गोदाम पर DRI ने दबिश दी। वहां दुकान में मौजूद रमनजीत सिंह और नवजोत सिंह शूज, गारमेंट्स, एक्सेसरीज और ट्राली बैग्स बेचने का कारोबार करते हैं। दोनों व्यक्तियों की दुकान और गोदाम की तालाशी ली तो अधिकारियों को 818 ग्राम हीरोइन और 15.34 लाख से अधिक की नकदी बरामद हुई। अधिकारियों ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों को दिल्ली DRI को सौंप दिया है।

6 किलो हेरोइन हरियाणा से बरामद

वहीं, शेष 6 किलो हेरोइन और कई लाख की नकदी DRI की टीम ने हरियाणा से जब्त की। बताया जा रहा है कि यह खेप दिल्ली के एक इम्पोर्टर के नाम पर आयात हुई थी। खेप के वास्तविक लाभार्थी साहनेवाल के दो कारोबार रमनजीत सिंह और नवजोत सिंह थे। टीम ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार बुधवार को दिल्ली की अदालत में पेश किया। अदालत ने इन्हें 14 दिन के रिमांड पर भेज दिया है। टीम अभी इस मामले में कई और सुराग मिलने और बड़े खुलासे के लिए जांच कर रही है।

खबरें और भी हैं...