• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • If The Drug Was Not Found, Then The Patients Staged A Sit in, In Such A Situation, The Work Was Also Completely Stopped On The Part Of The Employees.

धरना:नशा छोड़ने की दवा न मिली तो मरीजों ने दिया धरना, ऐसे में मुलाजिमों की तरफ से काम भी पूरी तरह से ठप किया गया

लुधियानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नशा छुड़ाने की दवाई लेने के लिए पहुंच रहे मरीजों को दवा नहीं मिल पा रही

सिविल अस्पताल में सोमवार को भी टीबी विभाग के मुलाजिमों, नशा छुड़ाओ केंद्र के कर्मियों और आशा वर्करों ने धरना दिया। नशा छुड़ाओ केंद्र के कर्मी 6 दिसंबर से पक्का करने की मांग और हाल में पंजाब सरकार की तरफ से तैयार किए बिल में केंद्रीय कर्मियों को भी शामिल करने की मांग को लेकर हड़ताल पर हैं। ऐसे में मुलाजिमों की तरफ से काम भी पूरी तरह से ठप किया गया है।

इसी कारण नशा छुड़ाने की दवाई लेने के लिए पहुंच रहे मरीजों को दवा नहीं मिल पा रही। सोमवार को नशा छुड़ाने वाले मरीजों ने दवा न मिलने पर धरना दिया। वहीं, एसएमओ से भी दो बार मुलाकात की। इसके बाद मुलाजिमों को लगाकर दवा दिलवाई गई। अस्पताल में रोज करीब 400 नशे के आदी मरीज दवा लेने आते हैं, लेकिन हड़ताल के चलते उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

खबरें और भी हैं...