वित्तमंत्री को उद्योगपतियों ने सुनाई खरी-खरी:लुधियाना में मंत्री आशु के सामने बोले व्यापारी- सरकारी दफ्तरों में भ्रष्टाचार चरम पर; अफसर करते हैं परेशान

लुधियाना12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल, उद्योग मंत्री गुरकीरत सिंह कोटली एवं फूड सप्लाई मंत्री भारत भूषण आशू लुधियाना में उद्योगपतियों से मीटिंग करने पहुंचे। - Dainik Bhaskar
वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल, उद्योग मंत्री गुरकीरत सिंह कोटली एवं फूड सप्लाई मंत्री भारत भूषण आशू लुधियाना में उद्योगपतियों से मीटिंग करने पहुंचे।

पंजाब में कैबिनेट विस्तार के बाद बुधवार को पहली बार वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल, उद्योग मंत्री गुरकीरत सिंह कोटली और फूड सप्लाई मंत्री भारत भूषण आशु ने लुधियाना में उद्योगपतियों के साथ बैठक की। इस बैठक में व्यापारियों ने आरोप लगाया कि सरकारी कार्यालयों में जमकर भ्रष्टाचार है। सरकारी अफसर उन्हें परेशान करते हैं। इस पर वित्तमंत्री मनप्रीत बादल ने कार्रवाई का आश्वासन देते हुए उनसे लिखित शिकायत देने को कहा। खास बात ये रही कि जिस समय व्यापारी मनप्रीत को खरी-खरी सुना रहे थे, उस समय लुधियाना सिटी से ही ताल्लुक रखने वाले मंत्री भारत भूषण आशु उनकी बगल में ही बैठे हुए थे। बैठक के दौरान व्यापारियों ने मंत्रियों के समक्ष सरकारी कार्यालयों में भ्रष्टाचार चरम पर होने का मुद्दा उठाया। निटवेयर क्लब के अध्यक्ष दर्शन डाबर ने तो यहां तक कह दिया कि टैक्स विभाग के अधिकारी व्यापारियों को परेशान करते हैं। ई-बिल होने के बावजूद 2 से 3 दिन तक उनके वाहन खड़े रहते हैं और कोई सुनवाई नहीं होती। इसके अलावा सीआईसीयू के प्रधान उपकार आहूजा ने भी भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाया। इस समय बिजली, प्रदूषण और टैक्स विभाग में बड़े स्तर पर भ्रष्टाचार चर्म पर है। इस तरफ ध्यान देने की जरूरत है। इसके अलावा व्यापारियों ने जीएसटी के स्लैब को सही करने की मांग भी की।

व्यापारियों को संबोधित करते वित्त मंत्री मनप्रीत बादल।
व्यापारियों को संबोधित करते वित्त मंत्री मनप्रीत बादल।

व्यापारियों की परेशानियां और दिक्कतें सुनने के बाद मनप्रीत बादल ने कहा कि जीएसटी को लेकर धारणा थी कि इसका फायदा होगा, ऐसा नहीं हुआ है। साढ़े चार साल बाद भी उतना टैक्स एकत्र नहीं हो रहा है, जो टैक्स इसके लागू होने से पहले एकत्र हो रहा था। अगले माह ही जीएसटी काउंसिल की बैठक होने जा रही है। उन्होंने व्यापारियों से कहा है कि आप मुझे जीएसटी को लेकर अपने सुझाव और समस्याएं लिखित में दें ताकि इसे अगली बैठक में दुरुस्त किया जा सके। उन्होंने कहा कि टैक्स को लेकर आ रही परेशानियां दूर होनी चाहिए। यही नहीं 48000 रिटर्नकर्ता ऐसे हैं जिन्हें रिटर्न को लेकर समस्या आ रही है। इसे हल करने के लिए सरकार ने दिवाली तक का समय मांगा गया है।

सुखबीर और केजरीवाल के बाद पहुंचे कांग्रेसी मंत्री
बता दें कि शिअद अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल लुधियाना आकर व्यापारियों से मिल चुके हैं। इसके बाद अब पंजाब के कैबेनिट मंत्री व्यापारियों से बैठक करने पहुंचे। व्यापारियों में हमेशा से इस बात का रोष रहा है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार के समय मुख्यमंत्री या फिर मंत्री उनकी सुध लेने नहीं ली। जबकि शिअद की सरकार के समय तत्कालीन मुख्यमंत्री या तत्कालीन उपमुख्यमंत्री लगातार लुधियाना आते रहे। बता दें कि इस बैठक में भी पहले मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के आने की सूचना थी मगर बाद में तीनों कैबिनेट मंत्री पहुंचे।

खबरें और भी हैं...