महंगाई और दंगों के मुद्दे पर चंडीगढ़ में प्रदर्शन:सीएम चन्नी की कोठी घेरने जा रहे शिरोमणि अकाली दल के वर्करों पर लाठीचार्ज, गिरफ्तारी दी

लुधियाना24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चंडीगढ़ में धरने के दौरान वर्करों को संबोधित करते हुए सुखबीर। - Dainik Bhaskar
चंडीगढ़ में धरने के दौरान वर्करों को संबोधित करते हुए सुखबीर।

पंजाब में महंगाई और 1984 दंगों के विरोध में शिरोमणि अकाली दल बादल (SAD) कार्यकर्ताओं ने चंडीगढ़ में प्रदर्शन किया। पुलिस ने शिअद वर्करों को रास्ते में रोक लिया। अकाली वर्करों पर हल्के बल का इस्तेमाल किया और कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया गया। SAD का आरोप है कि अपनी बात मुख्यमंत्री तक पहुंचाने जा रहे राजनीतिक पार्टियों के नेताओं, हक मांग रहे अध्यापकों और अन्य लोगों पर लाठीचार्ज किए जा रहे हैं। यह लोकतंत्र की हत्या है, लोगों को अपनी आवाज उठाने का हक भी नहीं मिल रहा है। शिअद ने ऐलान किया है कि 8 नवंबर को होने वाले विशेष सेशन के दौरान वह गांधी परिवार के खिलाफ रेजोल्युशन लाने की मांग करेंगे। इसके लिए वह दूसरी पार्टियों से सहयोग की भी अपील करेंगे। शिअद ने एमएलए हॉस्टल से अपना प्रोटेस्ट शुरू किया। यहां पुलिस ने बैरिकेडिंग की थी, इसे शिअद कार्यकर्ताओं ने हटा दिया। अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया की अगुवाई में शिअद वर्कर पैदल ही सीएम हाउस की ओर मार्च करने लगे। हालांकि पुलिस ने सीएम हाउस की ओर जा रहे अकाली वर्करों को हलका बल प्रयोग करते हुए कुछ ही दूरी पर रोक लिया। इसके बाद शिअद वर्कर वहीं पर धरने पर बैठ गए। SAD अध्यक्ष सुखबीर बादल, बिक्रम सिंह मजीठिया और दलजीत सिंह चीमा आदि ने वर्करों को संबोधित किया। इसके बाद अकाली वर्करों ने मजीठिया की अगुवाई में गिरफ्तारी भी दीं।

चंडीगढ़ में अकाली कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करती पुलिस।
चंडीगढ़ में अकाली कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करती पुलिस।

महंगाई-दंगा पीड़ितों के हक में जारी रहेगा संघर्ष

सुखबीर बादल ने संबोधन में कहा कि 37 साल पहले 1984 में गांधी परिवार के इशारे पर ही सिखों पर हमले हुए। इस दौरान हजारों निर्दोष सिखों की हत्या हुई। अभी तक पीड़ितों को इंसाफ नहीं मिला है। हालात यह है कि जिन लोगों ने सिखों की हत्या की उन्हें कांग्रेस पद दे रही है। इसका वह विरोध करते हैं। देश में महंगाई ने सभी रिकार्ड तोड़ दिया है। केंद्र सरकार ने जिस तरह से तेल पर वैट कम किया है, वैसे ही पंजाब सरकार को भी वैट कम करना चाहिए। वह इसके लिए संघर्ष करते रहें।

हक मांगनें वालों को मिल रहीं लाठियां : मजीठिया

बिक्रम सिंह मजीठिया ने गिरफ्तारी के बाद बस में से लाइव होकर कहा कि पंजाब में बनी नई सरकार लोगों के हित की सरकार है। मगर आज जब उन्हें महंगाई और दंगों संबंधी याद करवाने वह लोग जा रहे थे तो उन पर लाठीचार्ज किया गया है। साथ ही वर्करों को गिरफ्तार किया गया। अध्यापक हक मांग रहे हैं तो उन्हें लाठियां मारी जा रही हैं, अत्याचार किए जा रहे हैं और सरकार कोई सुनवाई नहीं कर रही है।

खबरें और भी हैं...