पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सोते रह गए मुंशी:10 दिन से खुला था लॉकअप की सलाखों का जोड़, हत्यारोपी भागा, संतरी एफआईआर दर्ज

लुधियानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अधिकारियों को सूचना मिलते ही हड़कंप मच गया और उन्होंने तुंरत प्रभाव से मुंशी रोशन सिंह और संतरी बुधीराम के खिलाफ पर्चा दर्ज कर दिया है। - Dainik Bhaskar
अधिकारियों को सूचना मिलते ही हड़कंप मच गया और उन्होंने तुंरत प्रभाव से मुंशी रोशन सिंह और संतरी बुधीराम के खिलाफ पर्चा दर्ज कर दिया है।

स्नेचिंग के दौरान 10वीं के छात्र की हत्या करने के वाले तीनों आरोपियों को वीरवार पुलिस ने गिरफ्तार कर प्रेस कॉन्फ्रेंस की, लेकिन उसके 10 घंटे बाद ही लॉकअप की सलाखें तोड़ मुख्यारोपी हरविंदर सिंह उर्फ लाली फरार हो गया। पुलिस मुलाजिमों को इसका पता तब चला जब नींद से उनकी आंख खुली।

अधिकारियों को सूचना मिलते ही हड़कंप मच गया और उन्होंने तुंरत प्रभाव से मुंशी रोशन सिंह और संतरी बुधीराम के खिलाफ पर्चा दर्ज कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक पिछले 10 दिनों से सलाखों का जॉइंट हिला था। इस बारे में एक निम्न स्तर के मुलाजिम ने कहा भी था, लेकिन फिर भी उसे दुरुस्त नहीं करवाया गया। इसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा और हत्यारोपी फरार हो गया।

वजन ज्यादा होने की वजह से नहीं निकल पाए 2 साथी

जानकारी के मुताबिक पुलिस ने तीनों आरोपी हरविंदर सिंह, तेजराम और गुरमीत सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। उन्हें पुलिस ने लॉकअप में डाल दिया। रात करीब 12 बजे हरविंदर ने सलाखों को धक्का देकर उसे ढीला कर दिया। उसकी सेहत कम होने की वजह से वो तीन सलाखें निकालने के बाद उसमें से निकल कर फरार हो गया। उसके बाकी के दोनों साथियों ने भी भागने की कोशिश की, लेकिन वो अपनी सेहत की वजह से उसमें से निकल नहीं पाए। थाने में इतना कुछ होता रहा, लेकिन मुंशी और संतरी दोनों आराम फरमाते रहे।

खबरें और भी हैं...