टीकरी बॉर्डर पर किसान की मौत:मानसा के 60 वर्षीय महिंदर सिंह ने ली आखिरी सांस, रात को सोया और सुबह उठा नहीं

लुधियाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक महिंदर सिंह। - Dainik Bhaskar
मृतक महिंदर सिंह।

दिल्ली के टीकरी बॉर्डर पर एक ओर किसान की मौत हो गई है। किसान पिछले लंबे समय से आंदोलन से जुड़ा हुआ था और सप्ताह पहले ही यहां आया था। मृतक की पहचान महिंदर सिंह निवासी गांव रल्ला, जिला मानसा के तौर पर हुई है। 60 वर्षीय महिंदर सिंह ने शादी नहीं करवाई थी और अपने गांव में रहता था।

उसके साथी किसानों के अनुसार, वह रात को टेंट में सोया था, सुबह उठाने का प्रयास किया तो वह नहीं उठा। पुलिस को इसकी सूचना दे दी गई है। महिंदर सिंह की मौत के बाद टीकरी बॉर्डर पर भारतीय किसान यूनियन कादियां के टेंट में और उनके गांव में शोक की लहर फैल गई है।

एक साल में हो चुकी हैं 800 मौत
कृषि कानूनों को लेकर किसान एक साल से दिल्ली के अलग-अलग बॉर्डर पर बैठे हुए हैं। इस दौरान अब तक 800 मौतें हो चुकी हैं और 600 से ज्यादा अकेले पंजाब से हैं। इस 26 नवंबर को आंदोलन को पूरा एक साल हो जाएगा, जब वह संघर्ष के लिए दिल्ली पहुंचे। सर्दी के मौसम में सबसे अधिक मौतें होती हैं और इसके बाद हालात बिगड़ सकते हैं।

खबरें और भी हैं...