पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • MD PHSC And Additional Chief Secretary Visit, Complaints Of Private Hospitals, Class Of Officers And Private Hospitals

धरे के धरे रह गए गुलदस्ते और चाय:अस्पतालों की लापरवाही से हो रहीं मौतों की लगातार मिल रही शिकायतों को लेकर एमडी पीएचएससी और एडिशनल चीफ सेक्रेटरी का दौरा

लुधियाना6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement

अस्पतालों की लापरवाही से कोरोना के मरीजों की हो रही लगातार मौतों की शिकायत पर शनिवार को सेहत विभाग के आला अधिकारियों ने सरकारी हॉस्पिटल का दौरा किया साथ ही प्राइवेट हॉस्पिटल्स के साथ भी मीटिंग की। यही नहीं सिविल हॉस्पिटल पहुंचीं पीएचएसी की एमडी तनु कश्यप ने हॉस्पिटल में हो रही कमियों के लिए जमकर क्लास लगाई। यहां तक कि हॉस्पिटल प्रबंधन द्वारा लाए गुलदस्ते और चाय तक भी धरी की धरी रह गई। एमडी तनु कश्यप ने क्लास लगाते कहा कि गंभीर मरीजों को भी बिना जांचे होम आइसोलेट किया जा रहा है। उनकी घरों में मौत भी हो जा रही और आपको जानकारी तक नहीं होती।

इसके अलावा आईडीएसपी लैब द्वारा मरीजों को देरी से दी जा रही रिपोर्ट्स को लेकर कहा कि जब आईडी और पासवर्ड स्टाफ के पास है तो रिपोर्ट देने में देरी क्यों की जा रही। इसके चलते पॉजिटिव मरीज के इलाज में देरी हो रही है और मौतें हो रही हैं। उनके साथ डायरेक्टर हेल्थ डॉ. अवनीत कौर भी मौजूद रहीं। उन्होंने फ्लू कॉर्नर का भी दौरा किया। ऑक्सीजन फिटिंग के काम को लेकर भी खिंचाई की। इस संबंध में पीडब्लूडी के एसडीओ और एक्सईएन की ओर से फोन न उठाने पर भी अधिकारियों की किरकिरी हुई।

उन्होंने अंदर दौरा करवाने की बात कही। जिस पर स्टाफ ने कहा कि पीपीई किट पहन कर जाना होगा। एमडी ने सवाल किया कि क्या जो अंदर काम कर रहे हैं वो पीपीई किट पहनें हैं? उन्होंने कहा कि इसका मतलब किसी काम की मॉनिटरिंग नहीं हो रही। हॉस्पिटल में स्टाफ की कमी की बात पर मौके पर मौजूद एसडीएम ईस्ट डॉ.बलजिंदर ढिल्लों ने आउटसोर्स पर रखे 100 से अधिक मुलाजिमों का जिक्र किया जिसका अधिकारी कोई जवाब नहीं दे सके। हॉस्पिटल के स्टाफ द्वारा आईडी कार्ड न पहनने का भी मुद्दा उठा।

किसी को भी बिना इलाज नहीं लौटाएंगे निजी हॉस्पिटल, 50% बेड कोविड मरीज के लिए रखें

एडिशनल चीफ सेक्रेटरी(हेल्थ) अनुराग अग्रवाल ने प्राइवेट हॉस्पिटल्स के प्रतिनिधियों के साथ मीटिंग की और इलाज में कोताही न बरतने की बात भी कह डाली। उन्होंने कहा कि कोविड के मरीजों के लिए वेंटिलेटर और नॉन वेंटिलेटर वाले आईसीयू 50 फीसदी रिजर्व होने चाहिए। किसी मरीज को इलाज बिना लौटाया नहीं जाएगा। अगर कोई सिंप्टोमेटिक मरीज देरी से हॉस्पिटल आ रहा है तो उसे भी एडमिशन से मना नहीं किया जाना चाहिए। बेड खाली न होने की सूरत में बताया जाए कि वो किस हॉस्पिटल में जा सकता है।

नहीं बर्दाश्त की जाएगी निजी अस्पतालों की लापरवाही

अनुराग अग्रवाल ने कहा कि सिविल हॉस्पिटल लुधियाना में दो और सिविल हॉस्पिटल खन्ना में 1 ट्रूनेट मशीन है। अगर प्राइवेट हॉस्पिटल में कोई सीरियस पेशेंट आता है तो वो सेहत विभाग के साथ संपर्क कर ट्रूनेट मशीन के जरिए 2 घंटे में रिजल्ट हासिल कर सकते हैं। डीसी वरिंदर शर्मा ने प्राइवेट हॉस्पिटल को जिम्मेदारी के साथ इस मुश्किल समय में काम करने के लिए कहा। प्राइवेट हॉस्पिटल की किसी भी लापरवाही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

जिले में कुल 143 मौतें, 20 दिनों में ही 81

शनिवार को भी जिले में कोरोना के 200 से ज्यादा केस रिपोर्ट किए गए। शनिवार को 203 केस आए जबकि 10 मौतें हुईं। इसमें 9 मौतें लुधियाना से संबंधित हैं। पॉजिटिव केसों में 193 केस लुधियाना और 10 बाहरी जिलों से संबंधित हैं। जिले में अब पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 3498 हो चुका है। वहीं, एक्टिव केस 1214 और मौतें भी 102 हो चुकी हैं। अन्य जिलों व राज्यों से संबंधित 450 पॉजिटिव केस अब तक आ चुके हैं। 89 एक्टिव केस हैं और 41 मौतें हो चुकी हैं। जिले में अब तक कुल 143 मौतों में से 56.64 फीसदी(81) मौतें सिर्फ पिछले 20 दिनों में ही हो गई हैं। इसमें सबसे ज्यादा 1 अगस्त को मौतें हुई जोकि 10 रही।शनिवार को 1158 सैंपल्स जांच के लिए भेजे गए। 2231 सैंपल्स की रिपोर्ट आना बाकी है। अब तक 63740 सैंपल्स भेजे जा चुके हैं। 57620 की रिपोर्ट नेगेटिव रही है। 122 रैपिड रिस्पांस टीमों द्वारा 541 लोगों की स्क्रीनिंग की गई। 393 को होम क्वारेंटाइन किया गया।

लुधियाना ईस्ट से 98, वेस्ट से 64 केस

शनिवार को भी जिले में कोरोना के 200 से ज्यादा केस रिपोर्ट किए गए। शनिवार को 203 केस आए जबकि 10 मौतें हुईं। इसमें 9 मौतंें लुधियाना से संबंधित हैं। पॉजिटिव केसों में 193 केस लुधियाना और 10 बाहरी जिलों से संबंधित हैं। जिले में अब पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 3498 हो चुका है। वहीं, एक्टिव केस 1214 और मौतें भी 102 हो चुकी हैं। अन्य जिलों व राज्यों से संबंधित 450 पॉजिटिव केस अब तक आ चुके हैं। 89 एक्टिव केस हैं और 41 मौतें हो चुकी हैं। जिले में अब तक कुल 143 मौतों में से 56.64 फीसदी(81) मौतें सिर्फ पिछले 20 दिनों में ही हो गई हैं। इसमें सबसे ज्यादा 1 अगस्त को मौतें हुई जोकि 10 रही।शनिवार को 1158 सैंपल्स जांच के लिए भेजे गए। 2231 सैंपल्स की रिपोर्ट आना बाकी है। अब तक 63740 सैंपल्स भेजे जा चुके हैं। 57620 की रिपोर्ट नेगेटिव रही है। 122 रैपिड रिस्पांस टीमों द्वारा 541 लोगों की स्क्रीनिंग की गई। 393 को होम क्वारेंटाइन किया गया।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement