दगाबाजी:मर्चेंट नेवी अफसर ने पत्नी को कनाडा भेजा, 18 लाख हड़पने के बाद ले जाने से मुकरी

लुधियाना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • विदेश ले जाने के नाम पर पंजाब में 4 साल में 127 दूल्हा-दुल्हन के जारी हुए लुकआउट सर्कुलर, इनमें से 103 दुल्हनें

शादी के 9 महीने बाद कनाडा गई पत्नी ने पति को बुलाने से इंकार कर दिया। जिसकी एवज में ऋषि नगर निवासी हरप्रीत सिंह ने इसकी शिकायत सीपी आॅफिस में दी। लिहाजा तीन साल की जांच के बाद अब थाना पीएयू पुलिस ने आरोपी कनाडा के ब्रेमटन निवासी मनवीर कौर के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। जांच अधिकारी लखविंदर सिंह ने कहा कि मामले की पड़ताल की जा रही है।

पुलिस को दिए बयानों में हरप्रीत सिंह ने बताया कि वो मर्चेंट नेवी आॅफिसर है। इंटरनेट के माध्यम से उनका संपर्क मनवीर के साथ हुआ था। इसके बाद दिसंबर 2016 में उनकी शादी मनवीर कौर के साथ हुई। फिर घरेलू विवाद रहने लगा और मनवीर रिश्तेदारों और परिजनों से बदतमीजी करने लगी।

तीन साल जांच करने के बाद पुलिस ने दर्ज किया पर्चा

अप्रैल 2017 में वो टाइफाइड का बहाना बनाकर अपने माता-पिता के पास चली गई। जबकि उन्होंने उनकी रिपोर्ट्स चेक करवाई तो उसे कोई दिक्कत नहीं थी। इस दौरान काफी विवाद होते रहे। जिसके बाद उसे स्टडी वीजा पर विदेश भेजने के िलए उन्होंने लाखों रुपए की सारी फीसें भरी, फिर वो विदेश चली गई। वहां जाकर उसने पीड़ित के परिजनों से बात करना बंद कर दिया। उन्हें फोन तब करती थी, जब पैसों की जरूरत होती थी। उन्होंने उसे कहा कि वो उनके लिए स्पाउस वीजा भेजे। लेकिन आरोपी ने बहाने बनाने शुरू कर दिए और कहा कि वो विजिटर वीजा दिलवाने में उसकी मदद कर सकती है। लेकिन उसके लिए एक हजार डाल भेजने होंगे पेपर वर्क के लिए। इसी तरह से कई बार उन्होंने हजार-हजार डालर भी भेजे, लेकिन हर बार यही कहती थी कि उनका वीजा रिजेक्ट हो गया। जबकि इस दौरान अपने परिजनों को बुला लिया। पीड़ित ने ये भी आरोप लगाया कि आरोपी के परिजन घर आकर जेवरात और बाकी का सामान ये कहकर ले गए थे कि कनाडा में डेली रूटीन में उसके काम आएंगे। इस तरह से आरोपी ने कुल 18 लाख की रकम हड़प ली। इसके बाद आरोपी फोन पर उनके साथ गाली-गलौज करने लगी। फिर उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस से की, उक्त मामले जांच शुरू की गई। ​​​​​​

किसी ने पता तो किसी ने बदला नाम वापस आ जाता है नोटिस, एफआईआर तक सीमित है ऐसे मामलों की जांच

पुलिस द्वारा ऐसे मामलों में कार्रवाई के लिए एंबेसी को लिखा जाता है, जोकि ऑनलाइन गृह विभाग की तरफ से ई-मेल करवाते हैं। जिसका नोटिस आरोपी के विदेश के ठिकाने पर भेजा जाता है। लेकिन अधिकांश मामलों में नोटिस वापस आ जाता है। क्योंकि आरोपियों ने घर बदल लिया होता है या फिर अपना नाम। पिछले चार सालों में 127 दूल्हे-दुल्हनों को नोटिस जारी किए गए हैं। जिसमें से 103 दुल्हनें है। उक्त मामलों में एलओसी( लुकआउट सर्कुलर) जारी करवाया गया है। मगर उसमें बना कुछ नहीं। किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई।

खबरें और भी हैं...