SAD की शताब्दी दिवस पर रैली:बड़े बादल बोले- हमारा मुकाबला 3 सरकारों से, डटकर लड़ेंगे, सहयोगी पार्टी BSP का दावा- 100 सीटें जीतेंगे

लुधियानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोगा के किल्ली चहलां में शताब्दी समारोह को लेकर हुई रैली के दौरान संबोधित करते हुए प्रकाश सिंह बादल। - Dainik Bhaskar
मोगा के किल्ली चहलां में शताब्दी समारोह को लेकर हुई रैली के दौरान संबोधित करते हुए प्रकाश सिंह बादल।

पंजाब के मोगा के किल्ली चाहलां में शिरोमणि अकाली दल ने मंगवार को शताब्दी दिवस पर विशाल रैली की। जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और बहुजन समाज पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र समेत शिअद की पूरी लीडरशिप शामिल रही। रैली को संबोधित करते हुए प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि अकाली दल अपने 100 साल के गौरवमय इतिहास को याद कर रहा है। 100 वर्षों में पार्टी ने कई तरह की चुनौतियों को सामना किया।

उन्होंने कहा कि हमारा मुकाबला तीन सरकारों के साथ है। पहली केंद्र की मोदी सरकार, दूसरी पंजाब में कांग्रेस सरकार और तीसरी दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार। उन्होंने कहा कि मुझे पूरा यकीन है कि हम इस बड़ी चुनौती को भी पार कर लेंगे। सरकार शिअद और बसपा गठजोड़ की ही होगी। क्योंकि जब वह बसपा के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़े थे तो 13 में से 8 सीटें उनके गठजोड़ को आई थी।

शिअद की रैली के दौरान पंडाल में मौजूद कार्यकर्ता।
शिअद की रैली के दौरान पंडाल में मौजूद कार्यकर्ता।

उन्होंने कहा कि पंजाब को जो भी कुछ मिला है वह अकाली दल की सरकार के समय ही मिला है। जब कृषि कानूनों के खिलाफ खड़े होने की बात आई तब भी इसके विरोध दो वोट पड़े थे, एक हरसिमरत कौर बादल और दूसरा सुखबीर सिंह बादल का। हरसिमरत कौर बादल ने तो अपना मंत्री पद तक त्याग दिया है। उम्मीद जताई जा रही थी कि प्रकाश सिंह विधानसभा चुनाव 2022 में चुनाव लड़ने या नहीं लड़ने पर ऐलान करेंगे, लेकिन उन्होंने कहा कि वह हमेशा से ही पार्टी का आदेश मानते आए हैं और इस बार भी पार्टी का आदेश ही मानेंगे। पार्टी जो सेवा जहां पर लगाएगी वह उसे पूरा करेंगे।

मिश्रा का दावा 100 सीट जीतेंगे

वहीं BSP के राष्ट्रीय महासचिव संजय मिश्रा ने कहा कि शिअद के 100 साल पूरे हुए हैं। आज मैं दावा कर रहा हूं कि हम 117 में से 100 सीटे जीतेंगे। BSP की राष्ट्रीय और प्रदेश की कार्यकारिणी पूरी मेहनत के साथ पंजाब में काम कर रही है। प्रकाश सिंह बादल की सरकार के समय पंजाब में कई बड़ी योजनाएं शुरू की गई थीं। जिससे हर पिछड़े वर्ग को फायदा मिला। इसी तरह की योजनाएं उत्तर प्रदेश में मायावती की सरकार ने भी दी थी। इसलिए हमारी दोनों पार्टियां मिलकर सरकार बनाएंगी भी और चलाएंगी भी।

सुखबीर बोले- सरकार बनना तय, बस वर्करों को संकल्प लेने की जरूरत

इस दौरान सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि पंजाब में अगली सरकार शिअद की बनना तय है। पार्टी के हर कार्यकर्ता को संकल्प करना होगा कि वह अब दिन-रात मेहनत करेंगे और चुनाव जीतकर दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि वह पिछले दो माह से अपने घर पर नहीं गए हैं। इसी तरह से ही सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं को भी अब जी जान से काम करना होगा। पार्टी की विचारधारा को लोगों के बीच ले जाना होगा।