• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • More Than 50 Cattle Killed, More Than 500 Sick In Payal Village Of Ludhiana District; A Cattle Rancher Committed Suicide

पंजाब में पशुओं पर मुंह-खुर की बीमारी का आतंक:लुधियाना जिले के गांव पायल में 50 से ज्यादा मवेशियों की मौत, 500 से ज्यादा बीमार; एक पशुपालक ने की खुदकुशी

लुधियाना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लुधियाना जिले के गांव पायल में पशुओ को मुंह-खुर की बीमारी के चलते उपचार करने पहुंची टीम। - Dainik Bhaskar
लुधियाना जिले के गांव पायल में पशुओ को मुंह-खुर की बीमारी के चलते उपचार करने पहुंची टीम।

कोरोना काल के दौरान आर्थिक मंदहाली झेलने वाले पशुपालकों पर नई मुसीबत आन खड़ी हुई है। पायल एरिया के गांव बेर कलां में मवेशियों को मुंह-खुर की बीमारी ने घेर लिया है। बताया जा रहा है कि अब तक यहां पर पचास से ज्यादा मवेशियों की मौत हो चुकी है और 500 से ज्यादा बीमार पड़े हैं। यहां एक पालक ने खुदकुशी कर ली है और कहा जा रहा है कि इसका कारण उसके तीन भैंसें बीमारी के कारण मर जाना है। मगर अभी तक इसकी पुष्टि नहीं की गई है।

मुंह खुर जिसे एफएमडी भी कहा जाता है, जानवरों के लिए बेहद गंभीर रोग है जो विभाजित खुर वाले जानवरों को प्रभावित करता है। इनमें गाय, भैंस ऊंट, भेड़, बकरी, हिरण और सूअर शामिल हैं। बेर कलां के निवासियों का दावा है कि इस बीमारी ने पहले ही 100 से अधिक जानवरों को मौत के घाट उतार दिया है। इससे पहले, मोगा जिले के निहाल सिंह वाला नजदीक दीना साहिब गांव में 35 दुधारू मवेशियों की मौत हो गई थी, वहां से पहली ऐसी मौत 6 जुलाई को हुई थी।

बेर कलां के 55 साल के डेयरी किसान नजर सिंह, जिन्होंने इस बीमारी से तीन भैंसों को खो दिया था, नुकसान नहीं सह सके और शुक्रवार की रात आत्महत्या कर ली। एक डेयरी मालिक गुरप्रीत सिंह ने कहा, “बीमारी के एक और प्रकोप का खतरा अधिक है। कई जानवरों के शवों को दफना दिया गया है, जबकि दफनाने की प्रतीक्षा करने वालों को गांव की खाली आम जमीन पर रखा गया है। मैंने 15 मवेशी खो दिए हैं। ग्रामीण और कुछ परोपकारी लोग जीवित मवेशियों के इलाज और मरे हुए जानवरों को दफनाने के लिए धन का योगदान दे रहे हैं।”

पशुपालन विभाग के उप निदेशक डॉ परमिंदर सिंह वालिया ने कहा कि चार सदस्य आठ टीमें गांव के 3 किमी के दायरे में मवेशियों और अन्य जानवरों का टीकाकरण कर रही हैं। जबकि 50 और संक्रमण दर्ज किए गए। इलाज शुरू हो गया है और हमें उम्मीद है कि रविवार शाम तक सभी जानवर ठीक हो जाएंगे।'

पायल विधान सभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक लखवीर सिंह लाखा ने कहा, 'किसान की आत्महत्या दुखद है। मैं रविवार को परिवार से मिलूंगा और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से किसान के परिवार को मुआवजा देने की अपील करूंगा। जिन किसानों ने अपने पशुओं को खोया है, उनके लिए भी कुछ मुआवजा दिलाने का प्रयास किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...