पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्वच्छता रैंकिंग खतरे में:सिटी स्वच्छ दिखाने को बचे सिर्फ 10 दिन डंप पर 16 लाख मीट्रिक टन कूड़ा है जमा

लुधियाना8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रोसेसिंग प्लांट का कनेक्शन कटा, एटूजेड से कचरा कलेक्शन का अनुबंध टूटा, लिफ्टिंग व प्रोसेसिंग का टेंडर ही नहीं लगा, कैसे सुधरेगी रैंकिंग

इंदाैर की तर्ज पर सिटी को भी स्वच्छ सर्वेक्षण की रैकिंग में नंबर-1 पर लाने का दावा भले ही निगम लुधियाना करते नहीं थक रहा। लेकिन स्वच्छ सर्वेक्षण के तीसरे फाइनल क्वार्टर के दौरान केंद्र की टीम को सिटी की स्वच्छता दिखाने के लिए निमंत्रण देने की आखिरी तरीख 28 फरवरी है। एेसे में प्रोसेसिंग प्लांट का पावर कनेक्शन कटने और एटूजेट से अनुबंध टूटने के बाद निगम कूड़े की लिफ्टिंग, प्रोसेसिंग के लिए दूसरा टेंडर

नहीं लगा पाया है जबकि ताजपुर डंप पर मौजूदा समय में करीब 16 लाख मीट्रिक टन कूड़ा डंप हो चुका है। जानकारों के मुताबिक एक सप्ताह में निगम टेंडर लगा भी तो भी इस कूड़े की प्रोसेसिंग शुरू करने में महीने से ज्यादा समय लगेगा। ऐसे में अगले महीने आने वाले स्वच्छ सर्वेक्षण के नतीजों के तहत सिटी की रैंकिंग पर बुरा असर पड़ता दिखाई दे रहा है। बता दें कि 6000 अंकों वाले स्वच्छ सर्वेक्षण में 40 फीसदी अंक सिर्फ साॅलिड वेस्ट के प्रबंध के हैं। इधर, ऐसे हालात पैदा होने के बावजूद हाउस की मीटिंग न बुलाए जाने पर विपक्ष में भाजपा पार्षद विरोध पर आ गए हैं।

स्वच्छ सर्वेक्षण में सॉलिड वेस्ट के हैं सबसे ज्यादा 40 फीसदी अंक

स्वच्छ सर्वेक्षण के अनुसार नए आयामों के साथ इस बार सर्वे तीन क्वार्टर में चल रहा है। पहले क्वार्टर में डोर-टू-डोर कूड़ा क्लेक्शन, ट्रांसपोर्टेशन, प्रोसेसिंग, डिस्पोजल और सफाई के 2400 अंक हैं। -मौजूदा हालात : अभी प्रोसेसिंग नहीं हो रही, कूड़ा लिफ्टिंंग व्यवस्था बिगड़ चुकी है, सफाई भी न के बराबर ही हो रही है। दूसरे क्वार्टर में ओडीएफ प्लस, वाॅटर प्लस, गारबेज फ्री सिटी स्टार रेटिंग में 1800 अंक हैं। मौजूदा हालात : पब्लिक टॉयलेट्स कई जगह बंद पड़े हैं, गारबेज फ्री सिटी स्टार रेटिंग में निगम अभी तक खरा नहीं उतर रहा। तीसरे क्वार्टर में सिटीजन की भागीदारी, फीडबैक, स्वच्छता एप के 1800 अंक हैं। मौजूदा हालात : निगम की ऑनलाइन सिटीजन फीडबैक में सच्चाई सामने आने पर अंक मिलने हैं, इसके अलावा यहां कुछ अंक अच्छे हासिल होने की संभावनाएं।

भाजपा पार्षद बोले- मेयर की लापरवाही ने शहर को कूड़े का ढेर बना दिया- भाजपा पार्षद दल की नेता सुनीता शर्मा और भाजपा जिला लोकल बॉडी सेल के संयोजक इंद्र अग्रवाल के नेतृत्त्व में पार्षद मनिंदर कौर घुम्मण, प्रभजोत कौर, पार्षद पति रोहित सिक्का, पार्षद पति पंकज शर्मा, युवा भाजपा नेता दीपू शर्मा ने शहर के कई कूड़ा कलेक्शन पॉइंट तथा ताजपुर रोड स्थित कूड़े के डंप का दौरा किया। इंद्र अग्रवाल और सुनीता शर्मा ने कहा कि मेयर की लापरवाही ने शहर को कूड़े का ढेर बना दिया है। यहां पर भी इंदौर की तर्ज पर ऐसी कंपनी लानी चाहिए जो प्रोसेसिंग करते हुए निगम की आमदनी को बढ़ाए, न कि ऐसी कंपनी को लाया जाए, जिससे वित्तीय बोझ बढ़े।

मेयर बोले- पिछले 7 सालों से ये डंप भाजपाइयों को क्यों नहीं दिखा?

इधर, मेयर बलकार सिंह संधू ने कहा कि अकाली-भाजपा सरकार के समय एटूजैड को काम अलाट हुआ है, इनकी ही सरकार के समय में कूड़े का ढेर लगा है, पिछले 7 सालों से इन्हें डंप पर जमा ढेर क्यों नहीं दिखा। भाजपा ये बताए कि क्या दो सालों में ही इतना ढेर लगा है। अपनी सरकार के समय का सच बताएं। हम तीन दिन में टेंडर लगाने जा रहे हैं। अब इनके प्रधान चाहे तो वो भी टेंडर कॉल कर लें, मुझे इनसे भी कोई एतराज नहीं है। अब एमरजेंसी में मैने शहर से कूड़ा उठाने के लिए काम सौंपा है तो इसमें मैंने क्या गलत किया है। शहर को मैं गंदा नहीं होने दूंगा। हम इंदौर की तरह ऐसी कंपनी का स्वागत करेंगे, जो पीपीपी मॉडल पर यहां काम करना चाहेगी। भाजपा सिर्फ राजनीतिक मुद्दा बनाने में लगी है। मैं ऑल पार्टी मीटिंग बुलाउंगा तब पूछे मुझसे सवाल।

इधर, एनजीओ ने घंटी बजा निगम को जगाने की कोशिश की- युवा एनजीओ के कुमार गौरव ने टीम मेंबरों के साथ ताजपुर रोड कूड़ा डंप पर पहुंचे, जहां पहले उन्होंने घंटी बजाई और निगम को जगाने की कोशिश की। इस दौरान निगम को जमकर कोसते हुए कहा कि बुड्‌ढे नाले की तरह ये सालों पुराना कूड़ा डंप शहर के लिए नासूर बनता जा रहा है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें