पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तीसरी लहर की तैयारी:जवद्दी, खन्ना में भी ऑक्सीजन प्लांट, 10 एंबुलेंस में लगेंगे वेंटिलेटर

लुधियाना24 दिन पहलेलेखक: रागिनी कौशल
  • कॉपी लिंक
  • सिविल हॉस्पिटल में लेवल-3 जबकि लेवल-2 के अन्य सरकारी अस्पतालों में भेजे जाएंगे मरीज

कोरोना की तीसरी लहर को गंभीरता से लेते हुए जिले के सेहत इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए सेहत विभाग तेजी से काम कर रहा है। दूसरी लहर में मरीजों के बेड, इंजेक्शन व एंबुलेंस के लिए काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। वहीं, मरीज बढ़ने पर ऑक्सीजन की खपत बढ़ी और प्रशासन को की सख्त कदम उठाने पड़े। इन्हीं परेशानियों के बाद अब सरकार, सेहत विभाग और प्रशासन पहले से तैयारियों पर जोर दे रहा है। इसी के चलते एक ओर जहां हॉस्पिटल्स में अॉक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। वहीं, एंबुलेंस सिस्टम को दुरुस्त किया जा रहा है।

दवाइयां व अन्य जरूरी सामान मंगाया जा रहा
तीसरी लहर के लिए बच्चों और बड़ों के मुताबिक दवाइयों के स्टॉक और अन्य जरूरी सामान की सूचियां भी विभाग द्वारा मंगवाई जा रही है। सिविल हॉस्पिटल लुधियाना में 1000 एलपीएम(लीटर प्रति मिनट) और 700 एलपीएम के दो अॉक्सीजन प्लांट लगे हैं। यूसीएचसी वर्धमान में 500 एलपीएम और सब डिविजनल हॉस्पिटल रायकोट में 255 एलपीएम का प्लांट लग रहा है। वहीं, अब यूसीएचसी जवद्दी और सब डिविजनल हॉस्पिटल खन्ना में भी ऑक्सीजन प्लांट लगाया जाएगा। सूत्रों के अनुसार जवद्दी में 165 एलपीएम और खन्ना में 300 एलपीएम का प्लांट लगेगा।

108 एंबुलेंस की बुकिंग पर एसएमएस सेवा शुरू, जल्द ही जीपीएस से ट्रैकिंग भी हो सकेगी
जिले में फिलहाल 108 की 42 एंबुलेंस चल रही हैं। इनमें से 40 बेसिक लाइफ सपोर्ट और 2 एडवांस्ड लाइफ सपोर्ट हैं। 108 के स्टेट प्रोजेक्ट हेड साकेत मुखर्जी ने बताया कि हमें 104 मल्टीपर्पज वेंटिलेटर मिले हैं। इनमें से लुधियाना में 10 एंबुलेंस में मल्टीपर्पज वेंटिलेटर लगेंगे। ऐसे में इनका इस्तेमाल बच्चों और बड़ों दोनों के लिए हो सकेगा। एक महीने के अंदर एंबुलेंस में ये सुविधा मिल जाएगी। उन्होंने बताया कि 108 को अपग्रेड के लिए सरकार व 108 द्वारा मिल कर ये काम किया गया है। अभी हम एसएमएस सुविधा शुुरू कर चुके हैं।

इसके तहत जो भी 108 पर फोन करता है और जिसकी बुकिंग कंफर्म हो जाती है। उसके फोन नंबर पर एसएमएस भेजा जाता है। जिसमें ड्राइवर का नाम, नंबर, गाड़ी का नंबर जाता है। ऐसे में मरीज या उसके रिश्तेदार फोन कर गाड़ी की जानकारी ले सकते हैं। एंबुलेंस में जीपीएस सिस्टम भी लग गया है। ऐसे में जिस भी बुकिंग करवाने वाले के पास स्मार्टफोन व इंटरनेट है। उन्हें लिंक भेजा जाएगा। उस लिंक पर क्लिक करने पर गाड़ी कहां पहुंची उसकी रियल टाइम जानकारी मिलेगी। इसकी भी जल्द शुरुआत हो जाएगी।

सिविल में 16 वेंटिलेटर लगाए गए लेवल-2 के लिए चार अस्पताल
लेवल 3 के मरीजों के लिए सिविल हॉस्पिटल लुधियाना में 16 वेंटिलेटर लगाए गए हैं। लेवल-2 के मरीजों को यूसीएचसी वर्धमान, यूसीएचसी जवद्दी, सब डिविजनल हॉस्पिटल खन्ना और रायकोट में रखने के संबंध में विचार चल रहा है। ऐसे में सिविल हॉस्पिटल में भी मरीजों की संख्या कम रखी जा सकेगी। हालांकि सिविल हॉस्पिटल में बेड रिजर्व रखे जाएंगे। यूसीएचसी जवद्दी के शहर के अंदर होने और अॉक्सीजन प्लांट लगने से काफी राहत मिलेगी। यहां पर मरीजों को रेफर करने में भी आसानी रहेगी।

खबरें और भी हैं...