• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • PAU's Snake ladder Technology Ready For Scientific Farming Is Also Inspiring The Farmers Of Tanzania, Got A Place In The Top 6 Ideas Around The World

कृषि के फायदे:साइंटिफिक खेती के लिए तैयार पीएयू की सांप-सीढ़ी तकनीक तंजानिया के किसानों को भी कर रही प्रेरित, विश्वभर के टाॅप- 6 आइडिया में मिली जगह

लुधियानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीएयू ने दो तरह की सांप-सीढ़ी तैयार की - Dainik Bhaskar
पीएयू ने दो तरह की सांप-सीढ़ी तैयार की
  • दूसरे राज्यों की मांग पर इसे पंजाबी से हिंदी में करवाया गया है तैयार
  • पीएयू के डॉ. शर्मा ने वैज्ञानिक तरीकों से कृषि से होने वाले फायदों के बारे में खेल-खेल में बताया

पंजाब एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी (पीएयू) के माहिरों ने साइंटिफिक तरीके से खेती करने के फायदों के बारे बताने के लिए तैयार सांप-सीढ़ी तकनीक सिर्फ पंजाब या देश के विभिन्न राज्यों ही नहीं, बल्कि अफ्रीका के तंजानिया तक भी पहुंच चुकी है। जहां पर किसानों को वैज्ञानिक तरीकों से कृषि करने के फायदों के बारे में खेल-खेल में बताया जा रहा है।

पीएयू ने दो तरह की सांप-सीढ़ी तैयार की है। इसमें एक कपास की कृषि और दूसरी धान की सीधी बिजाई की तकनीक को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करती है। पीएयू के कम्युनिकेशन सेंटर के असिस्टेंट डायरेक्टर (टीवी-रेडियो) डॉ. अनिल शर्मा और उनकी टीम ने ये इनोवेटिव तरीका तैयार किया है, जो अब देश-विदेश में प्रसिद्ध हो रहा है।

ये है सांप-सीढ़ी तकनीक

सांप-सीढ़ी खेल की तरह ही ये अवेयरनेस गेम भी खेली जाती है। अगर किसान की गीटी ऐसे अंक पर आती है। इसमें वैज्ञानिक खेती का इस्तेमाल ना कर गलत तरीका जैसे खेत को आग लगाना या ज्यादा कीटनाशक का इस्तेमाल किया जाए तो वहां से गिरकर किसान निचले अंक पर आ जाता है। अगर किसान वैज्ञानिक ढंग से खेती जैसे सीधी बिजाई का इस्तेमाल कर खेती या फिर माहिरों के सुझाए तरीके अपनाता है तो वो सीढ़ी चढ़ता है।

दूसरे राज्यों की मांग पर इसे पंजाबी से हिंदी में करवाया गया है तैयार

विदेश में इस गेम की बुकिंग करवाई जा रही है। अपने किसानों को जागरूक करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा रहा है। दूसरे राज्यों की मांग को देखकर पहले इसे पंजाबी से हिंदी में तैयार किया था। डॉ. अनिल ने बताया कि जर्मनी ने कृषि के वैज्ञानिक तरीकों को प्रोत्साहित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इनोवेटिव आइडिया मांगे थे। इसके लिए हमने भी अप्लाई किया और विश्वभर से 43 आइडिया आए थे। 13 को शॉर्टलिस्ट किया गया। इसके बाद टॉप-6 का चुनाव किया गया। इसमें इस इनोवेशन को जगह मिली।

स्वाहिली में तैयार की कपास की खेती के लिए सांप-सीढ़ी

डॉ. अनिल ने बताया कि तंजानिया के लिए कपास की खेती के साइंटिफिक तरीकों के फायदों के बारे में बताने के लिए स्वाहिली (तंजानिया की भाषा) में सांप-सीढ़ी तैयार की है। इसे तंजानिया के एक्सटेंशन साइंटिस्ट से मिलकर तैयार किया गया है। इसे इस्तेमाल करने के बारे में भी ट्रेनिंग हो चुकी है। इसे आगे एक्सटेंशन साइंटिस्ट किसानों तक प्रसारित करेंगे।

धान की सीधी बिजाई के लिए जागरूक करने में देंगे सहयोग

धान की सीधी बिजाई की तकनीक को पीएयू प्रसारित कर रहा है। इससे ना सिर्फ पानी, खाद की बचत होती है, बल्कि लेबर पर होने वाला खर्चा भी बचता है। वहीं, अगर बचत की तरफ ध्यान ना दिया गया तो आने वाले 20-25 सालों में पानी खत्म हो जाएगा। डॉ. अनिल ने बताया कि धान की सीधी बिजाई की तकनीक के फायदों के बारे में किसानों को जागरूक करना जरूरी है। हम कोशिश कर रहे हैं कि ज्यादा से ज्यादा किसानों तक पहुंचाएं, ताकि इस तकनीक को अपनाने सेे किसानों को होने वाले फायदों के बारे में बताया जा सके।

खबरें और भी हैं...