लॉकडाउन में ठग सक्रिय / पीएम योजना, एन-95 मास्क फ्री लेने का दे रहे झांसा, एक माह में 17 कंप्लेंट

X

  • ई-मेल, सोशल मीडिया पर लिंक भेजकर रहे ठगी

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:35 AM IST

लुधियाना. कोरोना महामारी से निपटने में पूरा देश जुटा है। वहीं, ठग इस दौरान भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे। अब वो नए ट्रेंड का इस्तेमाल कर लोगों को अपने जाल में फंसा रहे हैं। हालात देखिए कि मजबूर और अंजान लोग इसमें फंस भी रहे हैं। इसमें किसी के पैसे गए तो किसी का निजी डाटा चोरी हो गया। मगर अभी तक एक भी केस हल नहीं हुआ, क्योंकि न शिकायत लिखी गई और न ही आरोपियों का पता लगा, क्योंकि पुलिस खुद कोरोना के चक्रव्यूह में फंसी है।

कोरोनाकाल से पहले ठगी की शिकायतों की बात करें तो एक महीने में 10-11 शिकायतें होती थी, लेकिन इस कोरोना में ठगी की शिकायतें 16-17 तक पहुंच गई है। इस पर साइबर सेल भी काम कर रहा है, मगर काम उस गति की वजह से नहीं हो पा रहा। इन ठगियों का तरीका ऑनलाइन ही है, लेकिन अब इसे पेश करने का ढंग बदल गया है। इसके चक्कर में आसानी से लोग फंस भी रहे हैं।

ऐसे बहानों से कर रहे ठगी, रहें सावधान

ठग फेक ईमेल भेजी जा रही है। इसमें सबसे पहली प्रधानमंत्री योजना है। इसमें बताया जा रहा है कि हर महीने लोगों को 15-15 रुपए दिए जाने हैं, लेकिन इस सुविधा को लेकर के लिए अपना निजी डाटा शेयर करना पड़ता है। वो शेयर तो कर रहे हैं। इसके बाद उनका मोबाइल हैक हो रहा है। कुछ के खातों से एक-एक हजार रुपए कट भी गए। हालांकि इतनी छोटी ठगी की शिकायत नहीं हुई, लेकिन न जाने ऐसे कितने लोग होंगे। इसी तरह से लॉकडाउन में कैसे आप घर के बाहर घूम सकते हैं और अपनी दुकानें खोल सकते हैं। इस तरह की लिंक के साथ ई-मेल आ रही है। इसे टच करने के बाद फोन हैंग हो जाता है। इसके अलावा लॉकडाउन में कैसे घर सामान मंगवाए इसके लिए एक फर्जी एप का लिंक भी दिया गया है। 

पुलिस को मिल रही शिकायतें

अगर बात करें तो पुलिस को लगातार इन ठगियों की शिकायतें मिल रही है। पिछले दिनों एक महिला ने ट्विटर पर पुलिस कमिश्नर को शिकायत की थी कि प्रधानमंत्री योजना के नाम पर उनका पर्सनल डाटा चुरा लिया गया है। इसके बाद मामले में जांच की गई। इसका लिंक दिल्ली में मिल रहा है। फिलहाल उसे पुलिस ट्रेस कर रही है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना