पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • Police Entangled In Dates, Are Unable To Find Vehicles For Delivery, Lack Of Staff In Police Stations Is A Big Reason, Due To This Project Hangs

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रोजेक्ट अधर में लटका:तारीखों के फेर में उलझी पुलिस, सुपुर्दगी को वाहन नहीं ढूंढ पा रहे, थानों में स्टाफ की कमी बड़ा कारण,तस इसकी वजह से प्रोजेक्ट लटका

लुधियानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दो तारीखों के बाद अब तीसरी भी बदलने की तैयारी, सिर्फ चार थानों से निकले वाहन, वह भी आधे से ज्यादा लोगों ने लेने से किया इनकार
  • अफसरों-मुलाजिमों के तालमेल में गड़बड़ी ने बिगाड़ा काम, इसलिए बार-बार बदल रहे तारीख

(राजदीप सैनी)
थानों में कबाड़ हो रहे वाहनों की सुपुर्दगी के लिए लगने वाले कैंप के लिए रखी तीसरी तारीख भी बदल दी गई है, क्योंकि वाहन नहीं मिल रहे। बहुत से थानों में स्टाफ की कमी की वजह से काम ही नहीं हो पा रहा। ऐसे में थानों में कबाड़ हो रहे करीब 5 हजार वाहनों की दशा और भी ज्यादा बदतर होती जा रही है। विभागीय सूत्रों की मानें तो पुलिस के पास जिन 80 वाहनों की सूची थी, उनमें से भी आधों ने वाहन लेने से मना कर दिया, क्योंकि इन वाहनों की हालत इतनी कंडम हो चुकी है, वो चलना तो दूर लदने के भी लायक नहीं है। अफसरों ने अपनी साख बचाने के लिए पहले तो घोषणा कर दी कि वाहनों की नीलामी और सुपुर्दगी का काम जल्द होगा। असलियत में वाहनों की गिनती ही नहीं बढ़ पा रही। इसकी वजह से प्रोजेक्ट अधर में लटका है।

अफसरों-मुलाजिमों के तालमेल में गड़बड़ी ने बिगाड़ा काम, इसलिए बार-बार बदल रहे तारीख

आपसी तालमेल की गड़बड़ी की वजह से प्रोजेक्ट कछुआ चाल चल रहा है। अफसरों ने बिना किसी तैयारी के 10 तारीख कैंप के लिए रख दी। मगर निचले स्तर के अधिकारियों को इसकी जानकारी तक नहीं थी। जब तैयारी नहीं हुई तो 20 तारीख रख दी गई, फिर कुछ नहीं बना तो 24 तारीख रखी गई। अब वो भी निकल रही है, मगर तैयारी के नाम पर खानापूर्ति है। मुलाजिमों का तर्क है कि उनके पास स्टाफ नहीं, जिसकी मदद से वाहनों को निकाल सकें। जहां से वाहन निकले हैं, उनके मालिकों ने लेने से मना कर दिया।

बिना इंफ्रास्ट्रक्चर चलाया अभियान: जिन हालातों में वाहनों को रखा गया है, उसे निकालने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर की जरूरत थी, लेकिन नहीं दिया गया। इस वजह से वाहनों को निकालना मुश्किल हो रहा है। इसके अलावा बहुत से थानों के वाहन दूसरे थानों में पड़े है, जोकि ज्यादा परेशानी खड़े कर रहे हैं, क्योंकि उनके केस के नंबरों को ट्रेस करने पर पता चलता है कि उनके रिकॉर्ड में ऐसा कोई केस ही नहीं है।

वाहनों की सुपुर्दगी देने का काम सभी थानों-चौकियों में चल रहा है। वाहन मालिकों को भी सुचित किया जा रहा है। अब अगर वाहन देने है तो पुरी कार्रवाई के साथ दिए जाएंगे। इसके चलते समय लग रहा है। जल्द मालिकों को वाहन देने की कोशिश है।
-भगीर्थ सिंह मीना, जॉइंट कमिश्नर

लावारिस वाहनों को निकालकर उसका डाटा तैयार किया जा रहा है। डाटा तैयार करने के बाद उसे चैक करके उसकी नीलामी की जाएगी। नीलामी की तारीख तय नहीं है।
-सुखपाल सिंह बराड़, डीसीपी ट्रैफिक

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें