ट्रेनों में अवैध वेंडिंग का खेल:फिरोजपुर मंडल की रेलों में तकिये के गिलाफ में बेचा जा रहा प्राइवेट पानी

लुधियाना5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ट्रेन में अवैध वेंडिंग करती महिलाएं। - Dainik Bhaskar
ट्रेन में अवैध वेंडिंग करती महिलाएं।

उत्तर रेलवे के फिरोजपुर मंडल में एक बार फिर अवैध वेंडिंग का काला खेल शुरू हो चुका है। यात्री ट्रेनों में जहां भारी भीड़ हो रही है, वहीं अवैध वेंडरों की भी ट्रेनों में भरमार शुरू हो गई है। यह अवैध वेंडर सिर्फ खाने-पीने के सामान बेचने वाले नहीं हैं बल्कि ट्रेनों में अब कपड़े बिकने भी शुरू हो गए हैं। कुछ महीने पहले यह गोरखधंधा ना के बराबर हो गया था लेकिन रेलवे सुरक्षा बल की ढीली कार्यप्रणाली या यू कह लो अवैध वेंडरों को रेलवे सुरक्षा बल ने अनदेखा करना शुरू कर दिया है। लंबे समय बाद फिर से अवैध वेंडरों ने फन उठाना शुरू कर दिया है।

इन स्टेशनों से चलता अवैध वेंडिंग का रैकेट

मंडल की ट्रेनों में अवैध वेंडिंग का रैकेट, फिरोजपुर, लुधियाना , जालंधर, अमृतसर, उधमपुर, जम्मू, सांभा, दसुआ में रेलवे सुरक्षा बल के अधिकारियों और कर्मचारियों की आंखों में धूल झोंक कर चल रहा है। अवैध वेंडिंग करने वाली महिलाएं आसानी से ट्रेन में चढ़ जाती हैं। वहीं खाने-पीने का सामान बेचने वाले अवैध वेंडर भी ट्रेनों में पहुंच जाते हैं।

सफाई कर्मचारी तकिया के गिलाफ में प्राइवेट पानी छिपा कर बेच रहे

मंडल की ट्रेनों में साफ सफाई की व्यवस्था करने वाले ठेकेदारों के खुद के कर्मचारी ट्रेनों में प्राइवेट पानी बेचने लगे है। हाल ही में किसी यात्री ने इस मामले की जानकारी दैनिक भास्कर से सांझा की। यहां बता दे कि रेलवे में सिर्फ रेलनीर बिकना अनिवार्य है लेकिन निजी हितों के कारण रेलवे राजस्व को चपत लगा प्राइवेट पानी महंगे दाम पर ट्रेनों में सप्लाई हो रहा है।

आरपीएफ पोस्ट इंस्पेक्टर के कमरे के नजदीक दीवार तोड़कर बनाया गया चोर रास्ता
आरपीएफ पोस्ट इंस्पेक्टर के कमरे के नजदीक दीवार तोड़कर बनाया गया चोर रास्ता

खानापूर्ति के लिए चंद वेडरों को बंद करती रेलवे सुरक्षा बल

यहां बताते चले जब ऊपरी अधिकारियों का दबाव होता है या मासिक अदालत का आयोजन होना होता तो कागजी कार्रवाई करने के लिए रेलवे सुरक्षा बल खानापूर्ति करते हुए वेडरों को पकड़ते है और जुर्माना कर छोड़ देते है। बाद में ट्रेनों में अवैध वेडिंग के हालात फिर वही बन जाते है।

यात्रियों का सामान हो जाता चोरी, बिना लाइसेंस के घूमते ट्रेनों में वेंडर

यह बताते चलें कि जो अवैध वेंडर ट्रेनों में सामान बेचते हैं वह बिना लाइसेंस और बिना किसी पहचान पत्र के घूमते हैं। अब यदि किसी यात्री का सामान चोरी हो जाए तो ट्रेन में घूमने वाले अवैध वेंडरों का रेलवे में कहीं रिकॉर्ड नहीं मिलेगा और यात्री दर-दर भटकने के लिए मजबूर हो जाएगा। कई बार तो ऐसे मामले भी सामने आए हैं जिनमें कुछ लोग यात्रियों का सामान छीन कर चलती ट्रेन से छलांग लगा देते है।

घटिया क्वालिटी का बेचते सामान

ट्रेन में बिकने वाला खाने का सामना अवैध वेडरों घटिया क्वालिटी का लाते हैं। वही यात्रियों की मजबूरी का फायदा उठा उसी समान को महंगे दामों में बेच देते हैं। लंबी दूरी की ट्रेनों में अवैध वेंडर ज्यादा संख्या में दिखाई देते हैं।

थाना जीआरपी के सामने लोहे की ग्रिल तोड़कर अवैध वेंडर ने बनाया चोर रास्ता।
थाना जीआरपी के सामने लोहे की ग्रिल तोड़कर अवैध वेंडर ने बनाया चोर रास्ता।

चोर रास्तों से लुधियाना स्टेशन पर करते एंट्री
लुधियाना रेलवे स्टेशन चारों तरफ से खुला है। रेलवे ने बेशक स्टेशन के चारों तरफ वॉल बाउंड्री करवा दी है। फिर भी अवैध वेंडरों ने अपना रास्ता खुद बना लिया है। लुधियाना आरपीएफ पोस्ट कमांडर के कमरे के पास ही चंद कदमों की दूरी पर अवैध वेंडरों ने चोर रास्ता बनाया हुआ है। अब सवाल ये उठता है कि यह चोर रास्ता आरपीएफ के कर्मचारियों और अधिकारी को क्यों नहीं नजर आ रहा। यह सिर्फ एक चोर रास्ता नहीं इसी तरह थाना जीआरपी के सामने भी ग्रिल तोड़कर चोरों ने रास्ता बनाया हुआ है।

यदि अवैध वेंडिंग हो रही तो होगा सख्त एक्शन-डीआरएम

मंडल रेल प्रबंधक सीमा शर्मा ने कहा कि यदि ट्रेनों में इस तरह तकिये के कवर में प्राइवेट पानी बिक रहा है या अवैध वेंडिंग किसी भी तरह की हो रही है तो इसकी जांच करवा कर तुरंत सख्त कार्रवाई की जाएगी।