पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पब्लिक मनी की बर्बादी की योजना:इंदौर में 15 लाख मीट्रिक टन कूड़े की प्रोसेसिंग 12 करोड़ में इसी काम पर शहर में 100 करोड़ रुपए खर्चने की तैयारी

लुधियाना11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ताजपुर रोड डंप पर पड़ा कूड़ा।
  • पहले वर्ल्ड बैंक से 100 करोड़ लेने की थी स्कीम, अब स्मार्ट सिटी के तहत फंडिंग लेने को बनेगी डीपीआर
  • कूड़े का निस्तारण करने के लिए एनजीटी ने दिया 2 महीने का समय, पीपीसीबी मांग चुका बैंक गारंटी

ताजपुर रोड पर सालों पुराने डंप पर पड़े करीब 15 लाख मीट्रिक टन कूड़े की प्रोसेसिंग के लिए नगर निगम 100 करोड़ रुपए खर्च करने जा रहा है। हालांकि निगम के पास तो इतना फंड नहीं है, लेकिन स्मार्ट सिटी लिमिटेड से पैसा लिया जाएगा। अगर इंदौर की बात करें तो वहां पर भी 143 एकड़ में कूड़ा डंप था, जहां सालों पुराने 15 लाख मीट्रिक टन कचरे की प्रोसेसिंग कर डंप साइट को सिर्फ 12 करोड़ खर्च कर सुंदर मैदान लोगों के लिए बना दिया।

ऐसे में लुधियाना निगम इंदौर से सीख लेकर करोड़ों बचा सकता है। इंदौर में इस समय उस डंप साइट पर प्री-वेडिंग शूट होती है। लोग पिकनिक मनाने जाते हैं। यहां अलग-अलग बगीचे बनाए गए हैं। बता दें कि अगस्त में एनजीटी में मीटिंग के दौरान निगम को दो माह का समय देकर कूड़े का निस्तारण करने के लिए कहा है। वहीं, पीपीसीबी ने लाखों की बैंक गारंटी भी मांगी है।

प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा, अब मंजूरी का इंतजार

सालों पुराने डंप से कूड़े के निपटारे को पहले 100 करोड़ का बजट बना वर्ल्ड बैंक से लेने को हाउस में प्रस्ताव रखा। इसे राज्य सरकार के पास भेजा गया। हालांकि इसे अभी मंजूरी नहीं मिली, जबकि निगम बजट में 2020-21 में भी 100 करोड़ अलग से इस कूड़े के प्रबंध के लिए रखा गया था। वहीं, योजना बनाई गई कि पहले जालंधर के पैट्रन पर कूड़े का अलग से मशीनरी खरीद निस्तारण किया जाएगा। उस हिसाब से 200 करोड़ का बजट बन रहा था। इसके बाद पटियाला के पैट्रन पर बात सामने आई, जहां प्रति लाख मी. टन का 8-9 करोड़ खर्च होने की बात सामने आई है। सारा पैसा स्मार्ट सिटी के तहत डीपीआर तैयार करा खर्च करने की तैयारी है।

जमीन हो सकेगी इस्तेमाल

कुल 104 एकड़ के एरिया में डंप साइट बनी है। इसमें 50 एकड़ से ज्यादा जमीन पर तो पुराने कूड़े का डंप पड़ा है। डंप साइट को इंदौर पैट्रन पर काम करके क्लियर किया जाने से निगम को एक तो फंड की बचत होगी। वहीं, निगम को एक तो 50 एकड़ से ज्यादा खाली जमीन मिलेगी। कूड़े के कारण अभी वहां पर पर्यावरण काफी प्रदूषित हो रहा है, वह भी खत्म होगा। खाली जमीन को निगम किसी भी कार्य के लिए प्रयोग में ला सकेगा।

इंदौर भेजी जाएगी निगम टीम : मेयर

कोशिश है कि निगम फंड को ज्यादा से ज्यादा बचाया जा सके। कौंसलरों और निगम अफसरों की टीम बना जरूर इंदौर भेजूंगा, वहां की निगम ने कम खर्च में सालों पुराने डंप को खत्म कर पिकनिक स्पॉट बना दिया है तो ऐसा ही यहां पर किया जाएगा। इसके लिए वह जल्द टीम बनाकर वहां भेजेंगे। -बलकार संधू, मेयर

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में हैं। आपकी मेहनत और आत्मविश्वास की वजह से सफलता आपके नजदीक रहेगी। सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा तथा आपका उदारवादी रुख आपके लिए सम्मान दायक रहेगा। कोई बड़ा निवेश भी करने के लिए...

और पढ़ें