लुधियाना ब्लास्ट में खालिस्तानी एंगल:पाकिस्तान में बैठे कट्‌टरपंथी संगठनों का हाथ होने का शक, मरने वाले के शरीर पर मिला धार्मिक टैटू

लुधियानाएक वर्ष पहले

लुधियाना कोर्ट कॉम्प्लेक्स में हुए बम धमाके में खालिस्तानी आतंकियों का एंगल सामने आ रहा है। इस ब्लास्ट के पीछे पाकिस्तान में बैठे कुछ कट्टरपंथी संगठन हो सकते हैं। इनमें सबसे बड़ा नाम बब्बर खालसा का है। पंजाब में पिछले कुछ समय में बॉर्डर पार से आए कई टिफिन बम और हैंड ग्रेनेड पकड़े जा चुके हैं। ऐसे में संभव है कि पाकिस्तान में बैठे खालिस्तान समर्थकों ने अपने मॉड्यूल के जरिये इस ब्लास्ट को अंजाम दिया हो।

इस ब्लास्ट में मारे गए व्यक्ति के शरीर पर खंडे का टैटू भी बना है। ऐसे में माना जा रहा है कि मारा गया व्यक्ति पंजाब का ही रहने वाला हो सकता है। शरीर पर बने खंडे के टैटू के सहारे उसकी शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं। इस ब्लास्ट में IED के इस्तेमाल की बात भी सामने आ रही है। जांच एजेंसियां इस एंगल से भी पड़ताल कर रही हैं। उधर केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू लुधियाना कोर्ट कॉम्प्लेक्स में पहुंच चुके हैं। रिजिजू घटनास्थल का जायजा लेने के लिए यहां आए हैं।

बम ब्लास्ट में मरने वाले व्यक्ति का शरीर चार हिस्सों में बंट गया है। उसका चेहरा भी पूरी तरफ खराब हो चुका है, ऐसे में अब तक उसकी पहचान नहीं हो सकी है।
बम ब्लास्ट में मरने वाले व्यक्ति का शरीर चार हिस्सों में बंट गया है। उसका चेहरा भी पूरी तरफ खराब हो चुका है, ऐसे में अब तक उसकी पहचान नहीं हो सकी है।

मुंह बुरी तरह क्षतिग्रस्त, पहचान मुश्किल

इस ब्लास्ट के बाद बाथरूम में जिस आदमी की बॉडी मिली, उसका चेहरा बुरी तरह क्षतिग्रस्त है और उस पर मांस नहीं है। उसके पास से कोई कागज भी नहीं मिला। ऐसे में पुलिस के सामने सबसे बड़ी मुश्किल उसकी शिनाख्त की है। ब्लास्ट में उसके कपड़े भी बुरी तरह फट गए। पुलिस कोर्ट परिसर के बाहर और आसपास के एरिया में लगे CCTV कैमरों की गुरुवार की फुटेज देखकर इन फटे हुए कपड़ों का मिलान करके ही मारे गए शख्स की पहचान करने या उसका चेहरा निकालने की कोशिश कर रही है।

एक्सपर्ट टीम के साथ पहुंचे CRPF कमांडेंट

सूत्रों से जानकारी मिली है कि जम्मू कश्मीर से CRPF के कमांडेंट धीरेंद्र वर्मा अपनी एक्सपर्ट टीम के साथ लुधियाना कोर्ट पहुंचे हैं। मामले की जांच के लिए खास तौर पर धीरेंद्र वर्मा को बुलाया गया है। कमांडेंट धीरेंद्र वर्मा दरअसल CRPF के आईईडी एक्सपर्ट हैं, इसी वजह से उन्हें यहां खास तौर पर बुलाया गया है।

ब्लास्ट में मारे गए व्यक्ति का शव गुरुवार रात को जांच एंजेसियों ने सिविल हॉस्पिटल भेज दिया है, वहां शव से कुछ सैंपल लिए जाने हैं।
ब्लास्ट में मारे गए व्यक्ति का शव गुरुवार रात को जांच एंजेसियों ने सिविल हॉस्पिटल भेज दिया है, वहां शव से कुछ सैंपल लिए जाने हैं।

मरने वाले का शरीर 4 हिस्सों में बंटा

पंजाब पुलिस और केंद्र की जांच एजेंसियां मान रही हैं कि यह ब्लास्ट बम को प्लांट करते समय हुआ और इसमें बम लगाने वाले के ही चिथड़े उड़ गए। इस ब्लास्ट में उस शख्स का शरीर चार हिस्सों में बंट गया। दिल्ली से आए NIA और NSG के अधिकारियों ने उसका धड़ और क्षत-विक्षत चेहरा गुरुवार रात सवा 10 बजे लुधियाना सिविल अस्पताल पहुंचा दिया गया, लेकिन उसके पैर और हाथ ब्लास्ट के 20 घंटे बाद भी शुक्रवार सुबह 10 बजे तक नहीं मिले। लुधियाना पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत सिंह भुल्लर भी कह चुके हैं कि ब्लास्ट में जिस व्यक्ति के चीथड़े उड़े, संभवत: एक्सप्लोसिव उसी के पास था और बम फिट करते समय धमाका हो जाने से वह मारा गया।

बम प्लानर के कंधे पर धार्मिक चिह्न

लुधियाना कोर्ट कॉम्प्लेक्स से हटाए शव के दो हिस्से हुए हैं। कमर से ऊपर के धड़ पर बाजू नहीं है, कोहनी और कंधे के बीच में बची बाजू पर लाल और हरे रंग का टैटू बना है, सिख धर्म के धार्मिक चिह्न खंडा साहिब का। धार्मिक चिह्न के कारण मामले को कट्‌टपंथियों के साथ जोड़कर देखा जा रहा है। यह चिह्न मृतक की पहचान के लिए भी सहायक हो सकता है। हो सकता है कि परिवार के सदस्यों को इस बारे में पता न हो और वह इस टैटू को पहचान का निशान बताते हुए उसकी गुमशुदगी की शिकायत पुलिस को कर दें।

यह सिखों का फौजी निशान भी है। विशिष्ट रूप से, इसे निशान साहब (सिखों का धार्मिक ध्वज) के केंद्र में देखा जा सकता है। इसमें चार शस्त्र अंकित होते हैं- एक खंडा, दो कृपाण और एक चक्र। खंडा की एक विशेष पहचान यह भी है कि वह धार्मिक सिद्धांतों के साथ-साथ शक्ति एवं सैन्य-ताकत का प्रतीक है

फोटोस्टेट करने वालों से पूछताछ करेगी पुलिस

पंजाब पुलिस के अधिकारी शुक्रवार को लुधियाना कोर्ट में रोजाना आने-जाने वाले लोगों से पूछताछ करेगी। इनकी लिस्ट तैयार की जा चुकी है। तीसरी मंजिल पर जिस जगह ब्लास्ट हुआ, वहां फोटोस्टेट मशीनें लगी थीं, जिन पर कुछ महिलाएं और युवक तैनात रहते थे। पुलिस इन लोगों से भी पूछताछ करके मारे गए शख्स का हुलिया जानने की कोशिश करेगी। फोटोस्टेट मशीन पर काम करने वाली दो महिलाएं इस ब्लास्ट में घायल हो गई थीं और लुधियाना सिविल अस्पताल में दाखिल हैं। पुलिस उनसे भी पूछताछ कर सकती है।

कोर्ट कैंपस में ब्लास्ट के बाद फैला मलबा अब तक हटाया नहीं जा सका है। इसमें कुछ और शव मौजूद होने की आशंका जताई गई है।
कोर्ट कैंपस में ब्लास्ट के बाद फैला मलबा अब तक हटाया नहीं जा सका है। इसमें कुछ और शव मौजूद होने की आशंका जताई गई है।

मलबे में मौजूद हो सकते हैं और शव

बॉडी अस्पताल पहुंचाने वाले संवेदना ट्रस्ट के वालंटियर जसपाल सिंह और जग्गा सिंह ने बताया कि उन्हें बॉडी हटाने के लिए अफसरों ने कोर्ट परिसर की दूसरी मंजिल पर बुलाया। जब वह मौके पर पहुंचे तो वहां मलबे के बीच अलग-अलग जगह पर मानव शरीर के अंग बिखरे पड़े थे। उन्हें सिर्फ एक बॉडी हटाने को बोला गया, जिसकी बाजू और टांगें नहीं थीं। मलबा हटाने के बाद वहां से और डेडबॉडी मिलने की बात से इनकार नहीं किया जा सकता।

शाह ने चन्नी से बात की, मदद का भरोसा दिलाया

इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पंजाब के CM चरणजीत चन्नी से बात की। शाह ने चन्नी से ब्लास्ट और पंजाब के सुरक्षा हालात का ब्यौरा लिया। शाह ने पंजाब सरकार को केंद्र से हरसंभव मदद का भरोसा भी दिलाया।

धमाके में एक की मौत, 6 जख्मी

लुधियाना कोर्ट में गुरुवार दोपहर तीसरी मंजिल के बाथरूम में धमाका हुआ। इसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई। इसे ही धमाके का संदिग्ध माना जा रहा है। इस ब्लास्ट में 6 अन्य लोग घायल हुए। ये लुधियाना के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती हैं और इन सभी की हालत खतरे से बाहर है। धमाके के बाद बाथरूम की दो दीवारें ढह गईं और फर्श टूटकर दूसरी मंजिल पर आ गया। पंजाब विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले हुए इस धमाके की टाइमिंग को देखते हुए केंद्र सरकार तुरंत हरकत में आ गई। केंद्रीय जांच एजेंसियां NIA और NSG की टीमें इसकी जांच में जुटी हैं।

खबरें और भी हैं...