पंजाब स्कूल शिक्षा विभाग का पेपर लीक:मिड-टर्म परीक्षा से एक दिन पहले यूट्यूब चैनल पर मिला प्रश्न-पत्र, एक्सपर्ट बोले- पकड़ा जाएगा अपराधी

लुधियाना8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा पुलिस में कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होने के बाद अब पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं के प्रश्न पत्र लीक हो गए। यह प्रश्न-पत्र यूट्यूब चैनल पर वायरल हो रहे हैं। 6वीं से 12वीं की मिड टर्म परीक्षाओं का पेपर लीक हुआ है। एग्जाम सोमवार से शुरू होने थे, लेकिन रविवार को पेपर लीक हो गया। नकल विरोधी अध्यापक फ्रंट के प्रधान सुखदर्शन सिंह की तरफ से इसकी शिकायत पंजाब सरकार में प्रमुख सचिव विन्नी महाजन को की गई है।

शिकायती पत्र में लिखा गया कि परीक्षा के प्रश्न पत्र विरदी व्लॉगज नामक यूट्यूब चैनल पर अपलोड हैं और वह भी पूरी तरह से सॉल्व किए हुए। दावा किया जा रहा है, जो पेपर 13 सितंबर को होना था, एक दिन पहले वह रविवार को यूट्यूब पर अपलोड हो गया। इस तरह से पंजाब के लाखों विद्यार्थियों के भविष्य से खिलवाड़ हो रहा है। क्योंकि कई बच्चे चैनल से इस पेपर की डिमांड कर रहे हैं।

नकल विरोधी अध्यापक फ्रंट के प्रधान सुखदर्शन सिंह का फाइल फोटो।
नकल विरोधी अध्यापक फ्रंट के प्रधान सुखदर्शन सिंह का फाइल फोटो।

मिड टर्म परीक्षा में पहले दिन के पेपर लीक
सुखदर्शन सिंह के अनुसार, आज से मिड टर्म परीक्षाएं शुरू हुई हैं। सुबह के सेशन में 8वीं का मैथ व 10वीं का साइंस का पेपर था। जैसे ही पेपर बच्चों को दिया गया, वह चौंक गए। क्योंकि यह वही पेपर थे, जो यूट्यूब चैनल पर अपलोड किए गए थे। अब दोपहर के सेशन में 6वीं का अंग्रेजी, 8वीं का पंजाबी और 9वीं का हिंदी का पेपर होना है, जिन्हें भी लीक बताया जा रहा है।

चंडीगढ़ बोर्ड मुहैया करवाता है पेपर
बताया जा रहा है कि प्रश्न पत्र चंडीगढ़ से पंजाब स्कूल एजुकेशन बोर्ड की तरफ से मुहैया करवाए जाते हैं। स्कूल प्रमुख को यह पेपर ईमेल के जरिए मिलते हैं और वह फिर इसकी फोटो कॉपियां करवाते हैं और परीक्षाएं ले ली जाती हैं। मगर यह प्रणाली बेहद कमजोर है, अब क्या पता फोटो स्टेट संचालक या फिर किसी अध्यापक द्वारा पेपर लीक कर दिए गए हों।

यूट्यूब चैनल पर अपलोड हुआ पेपर।
यूट्यूब चैनल पर अपलोड हुआ पेपर।

एक्सपर्ट व्यू- पकड़ा जाएगा आपराधी
साइबर सेल 2 के प्रभारी सब इंस्पेक्टर जतिंदर सिंह का कहना है कि पेपर यूट्यूब चैनल पर अपलोड हुए हैं तो जांच के बाद पराधी को पकड़ा जा सकता है। इस्तेमाल किए गए इंटरनेट के आईपी एड्रेस से और यूट्यूब चैनल बनाने के लिए इस्तेमाल की गई ईमेल आईडी से भी उसका पता लगाया जा सकता है। मामला अभी उनके पास नहीं आया है। अगर मामला आएगा तो जरूर जांच की जाएगी।

खबरें और भी हैं...