लुधियाना में लुटेरा जेल वार्डन गिरफ्तार:ट्रेनों में यात्रियों से करता था छीनाझपटी, 5 महीने से ड्यूटी पर नहीं आया था

विवेक शर्मा5 महीने पहले

पंजाब के लुधियाना में आए दिन कुछ पुलिस मुलाजिम खाकी को दागदार कर रहे हैं। लुधियाना रेलवे स्टेशन पर जीआरपी और आरपीएफ ने एक ऐसे आरोपी को पकड़ा है जो पुलिस कर्मचारी है और यात्रियों से छीनाझपटी करता था। आरोपी ट्रेनों में चढ़ जाता था और चेकिंग के बहाने यात्रियों पर पुलसिया रौब दिखा लूटपाट करता था।

15 अगस्त को वह दादर एक्सप्रेस में चढ़ गया। आरोपी बी-2 एस-टीयर 3 में चढ़ा और एसी कोच में चार्जिंग पर लगा मोबाइल चुरा लिया। इसके बाद चलती ट्रेन से छलांग लगा दी। रेलवे के ए.सी कोच जैनिटर अजय ने तुरंत रेलवे 139 पर सूचना दे शिकायत दर्ज करवाई।

इस मामले में थाना जीआरपी ने तुरंत एक्शन लिया और सर्च अभियान चलाया। शिकायतकर्ता अजय कुमार ने पुलिस को बताया कि जिस कर्मचारी ने फोन चोरी किया उसने पुलिस की वर्दी पहनी थी और नेम प्लेट पर उसका नाम भी लिखा हुआ था।

पुलिस ने इस मामले में आरोपी को 16 अगस्त तड़के गुप्त सूचना पर माल गोदाम से काबू किया। आरोपी की पहचान दीपक कुमार निवासी गिदड़बाहा के रूप में हुई है। उसे अदालत में पेश कर ज्यूडिशियल रिमांड पर भेजा गया है। आरोपी से पुलिस ने एक आधार कार्ड भी बरामद किया है, वो आधार कार्ड उसी व्यक्ति का है जिसका आरोपी ने मोबाइल चुराया है।

पिछले 2 महीने से घूम रहा था स्टेशन पर

आरोपी पुलिस कर्मचारी पिछले 2 महीने से रोजाना धूरी से आता था। आरोपी दीपक स्टेशन पर घूम कर यात्रियों को सुनसान जगह पर रोक लेता और चेकिंग के बहाने उनसे पैसे ऐंठ लेता था। पुलिस के मुताबिक जब आरोपी दीपक को पकड़ा तो वह शराब के नशे में था। आरोपी शादीशुदा है। वह नशा करने का भी आदी है, जिस वजह से वह गलत संगत में पड़ अपराध की दुनिया में आ गया।

पुलिस कर्मचारी पर है 4 लाख का लोन

जेल वार्डन दीपक पर प्राइवेट बैंक का करीब 4 लाख रुपए का लोन है। लोन की किस्तें न भरे जाने के कारण दीपक परेशान रहता था। आरोपी दीपक के खिलाफ बैंक प्रबंधकों ने भी अदालत में केस दायर किया हुआ है। पुलिस ने आरोपी का फोन कब्जे में ले लिया है और जो फोन चुराया था उस फोन को ट्रेसिंग पर लगा दिया है ताकि पता चल सके आरोपी ने फोन किसे बेचा है।

आरोपी पुलिस कर्मचारी अप्रैल महीने से था गैरहाजिर

दीपक अप्रैल महीने से लगातार गैरहाजिर चल रहा था। वह 2017 से जेल वार्डन था। बताया जा रहा है कि आरोपी दीपक लोगों से लूटपाट करके ट्रेन से ही वापस भाग जाता था। कई यात्रियों से आरोपी सुनसान जगह पर मारपीट भी कर चुका है।

5 दिन पहले भी पकड़ा था लुटेरा पुलिसकर्मी

बता दें कि 5 दिन पहले थाना मोती नगर की पुलिस ने लूटपाट करने वाले गिरोह में 7 लोगों को नामजद किया था। इस मामले में आरोपियों में 2 पुलिस कर्मचारी थे जो सर्किट हाउस में VIP सुरक्षा में तैनात थे। दोनों आरोपी कॉन्स्टेबल थे। एक कॉन्स्टेबल इंद्रजीत सिंह को मौके पर ही पुलिस ने काबू कर लिया था। दूसरी कॉन्स्टेबल फरार है।