पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

तबादला:रूहानियत के सम्राट के रूप में प्रकट हुए संत कृपाल महाराज

लुधियानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कलियुग में परम संत कृपाल सिंह महाराज रूहानियत के सम्राट के रूप में प्रकट हुए। 20वीं शताब्दी में दुनिया भर में रूहानियत के लिए पहचाने जाने वाले संत कृपाल सिंह महाराज रुहानी मिशन के चेयरमैन थे। उनका जन्म 6 फरवरी 1894 को रावलपिंडी के गांव सैयद कसरां (जोकि अब पाकिस्तान में है) में हुआ। इनके पिता का नाम हाकम सिंह aव माता का नाम गुलाब देवी था। केवल 6 वर्ष की आयु में ही परमात्मा को पाने वाले संत कृपाल सिंह स्वयं परमात्मा का रूप थे । उनकी शुरू से ही पूर्ण पुरुष को मिलने की तमन्ना थी।

एक बार इनके स्कूल में एक पादरी ने बच्चों से प्रश्न पूछा कि वे बड़े होकर क्या बनना चाहते हैं, तो इसके उत्तर में किसी बच्चे ने कहा डॉक्टर, किसी ने इंजीनियर तो किसी ने अफसर लेकिन संत कृपाल सिंह ने कहा कि मैं परमात्मा को पाना चाहता हूं। फिर 17 वर्ष की आयु में दसवीं कक्षा पास करने के बाद उन्होंने सात दिन अकेले में बंद होकर सोचा कि अब उन्हें क्या करना चाहिए तो उन्होंने फैसला लिया कि पहले परमात्मा, बाद में संसार और 1917 में उन्हें सपने में एक संत दिखाई देने लगे, जिनके हाथ में एक छोटी छड़ी थी, वह सोच में पड़ गए कि यह संत कौन है? ,

क्योंकि संत कृपाल सिंह जी महाराज जी मिलिट्री में नौकरी करते थे। 1924 में उनका तबादला हो गया और वे लाहौर आ गए। उस संत की ताकत उन्हें खींच कर ब्यास ले आयी और अप्रैल 1924 में वे पहली बार जब हजूर महाराज बाबा सावन सिंह के सामने गए तो उनको देखकर वह हैरान रह गए कि यह वही बाबा जी हैं , जो उन्हें सपने में दिखाई देते थे तो कृपाल सिंह जी महाराज जी ने उनके पैर पकड़ कर कहा कि इतनी देर क्यों? तो बाबा जी ने हंस कर कहा यही सही समय था, जिसका मुझे इंतजार था उसके बाद बाबा जी ने कृपाल सिंह जी को सत्संग करने की ड्यूटी लगाई और लाहौर में वे हर रविवार सत्संग करने जाते थे और दो दिन

बाबा सावन सिंह के चरणों में रह कर उनकी सेवा करते थे। 2 अप्रैल, 1948 को जब बाबा सावन सिंह महाराज जी ने शरीर त्याग दिया तब कृपाल सिंह जी दुखी ह्रदय से ब्यास छोड़कर ऋषिकेश के जंगलों में तपस्या करने निकल पड़े। वहां उनके साथ उनके गुरु भाई हरदेवी ताई जी (जोकि लाहौर में राजा बाजार के मालिक थे) और कुछ सत्संगी भी निकल पड़े। -प्रस्तुति : डॉ. राजेश रुद्रा, चेयरमैन चैन ऑफ ग्रीनलैंड स्कूल्स।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें