• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • SIT Reached Burj Jawahar Singh Wala To Investigate 6 Year Old Sri Guru Granth Sahib Sacrilege Case Sought Cooperation From Villagers

फरीदकोट में श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का मामला:6 साल पुराने मामले की जांच करने बुर्ज जवाहर सिंह वाला पहुंची SIT, ग्रामीणों से मांगा सहयोग

लुधियाना5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गांव बुर्ज जवाहर सिंह वाला में लोगों से मुलाकात करती स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम। - Dainik Bhaskar
गांव बुर्ज जवाहर सिंह वाला में लोगों से मुलाकात करती स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम।

फरीदकोट के गांव बुर्ज जवाहर सिंह वाला में श्री गुरु ग्रंथ साहिब की हुई बेअदबी मामलों की जांच कर रही स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) बुधवार को बुर्ज जवाहर सिंह वाला गांव पहुंची और वहां पर लोगों से सहयोग की मांग की है। गांव की सांझी जगह पर टीम के प्रमुख आईजी बॉर्डर रेंज एसपीएस परमार अपने साथियों के साथ पहुंचे थे। वहां पर उनकी ओर से गांव के लोगों के साथ लंबी बातचीत की गई और उन्हें अपने मोबाइल नंबर दिए। एसपीएस परमार ने कहा कि वह किसी भी तरह की कोई भी जानकारी फोन कर दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि यह मामला उन्हें 25 फरवरी 2021 को दिया गया था, इस मामले में अभी तक 2 चालान पेश किए जा चुके हैं, जिसमें श्री गुरु ग्रंथ चोरी होने, गांव में पोस्टर लगाने के मामले शामिल हैं। अब श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के मामले में चालान पेश किया जाना है। जिसकी जांच उनकी ओर से की जा रही है।

6 साल पुराना है बेअदबी मामला
1 जून 2015 की रात को यहां के गुरुद्वारा साहिब से श्री गुरु ग्रंथ के स्वरूप को चोरी किया गया था। इसके बाद अगले दिन यहां पर पोस्टर लगा दिए गए थे। 12 अक्टूबर को श्री गुरु ग्रंथ साहिब के पावन अंग गांव की गलियों में बिखरे मिले थे। इस मामले के बाद कोटकपूरा चौक में सिख संगठनों की तरफ से प्रदर्शन किया गया था। 14 अक्टूबर 2015 को घटना के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई फायरिंग में 2 युवकों की गोली लगने से मौत हो गई। पुलिस ने अब तक इस मामले में डेरा सच्चा सौदा के 6 प्रेमियों को नामजद कर गिरफ्तार किया है। हालांकि बाद में उन्हें रिहा कर दिया गया।

सीबीआई भी कर चुकी मामले की जांच
पहले यह मामला सेंट्रल ब्यूरो आफ इनवेस्टीगेशन एजेंसी (सीबीआई) को दिया गया था। जांच में सीबीआई ने डेरा प्रेमियों ने निर्दोष बताया था। मगर 2021 में यह जांच सीबीआई से वापस ले ली गई और स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम बनाई गई। अब तक इस मामले में सुखजिंदर सिंह सन्नी कंडा, शक्ति सिंह, रणजीत सिंह, बलजीत सिंह, निशान सिंह व प्रदीप सिंह को गिरफ्तार किया गया है। जिन्हें अदालत से जमानत पर रिहा कर दिया गया है।

राजनीतिक मुद्दा रहा है बेअदबी मामला
श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का मामला हमेशा से राजनीतिक पार्टियों के लिए चुनावी मुद्दा रहा है। पिछले 2017 के चुनाव के समय यह मुद्दा जोर शोर से उठा था। 6 साल बाद भी इसकी जांच ही चल रही है, तो साफ है कि यह मामला इस चुनाव में भी मुद्दा बना रहेगा। अभी से हो रहीं चुनावी रैलियों में इसे जोर शोर से उठाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...