लुधियाना में PM मोदी के फोटो पर पोती कालिख:भाजपा नेता भड़के; आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग, बोले- यह हरकत शर्मनाक, कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

लुधियाना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पोस्टर पर पोती गई कालिख। - Dainik Bhaskar
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पोस्टर पर पोती गई कालिख।

पंजाब के लुधियाना शहर में चंडीगढ़ रोड स्थित पेट्रोल पंप पर लगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पोस्टर पर कालिख पोत दी गई है। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं की तरफ से यह पोस्टर बदल दिया गया है, लेकिन इसकी शिकायत पुलिस को दी है। क्योंकि इस हरकत से भाजपा नेताओं में विरोध है और वह कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

यह पेट्रोल पंप पिछले कुछ समय से बंद पड़ा है, इसलिए यहां पर कोई सिक्योरिटी गार्ड भी नहीं था। सीसीटीवी कैमरे भी नहीं चल रहे थे। इसलिए नहीं पता चल पाया है कि कालिख किसने पोती है। लेकिन भाजपा नेता जतिंदर गोरियन एवं आशीश बोनी ने कहा है कि यह शर्मनाक हरकत है और यह सरासर गलत है। इसे बर्दाशत नहीं किया जाएगा।

चंडीगढ़ रोड पर बंद पड़ा पेट्रोल पंप, जहां लगे पोस्टर पर कालिख पोती गई है।
चंडीगढ़ रोड पर बंद पड़ा पेट्रोल पंप, जहां लगे पोस्टर पर कालिख पोती गई है।

कृषि बिलों को लेकर किसानों के निशाने पर हैं मोदी

केंद्र सरकार की तरफ से लाए गए कृषि बिलों का विरोध किसान पिछले एक साल से कर रहे हैं। वह तीनों बिल माफ करने की मांग पर अड़े हुए हैं, लेकिन केंद्र सरकार इसे रद्द नहीं करने करने पर अड़ी है। यही कारण है कि किसानों की तरफ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विरोध किया जा रहा है। कयास लगाए जा रहे हैं कि इसी विरोध के चलते इस तरह की हरकत की गई है और कालिख पोत दी गई है। इसके अलावा यह भी हो सकता है कि माहौल खराब करने की मंशा से यह कदम उठाया गया हो।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कालिख लगे पोस्टर को हटाते हुए भाजपा कार्यकर्ता
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कालिख लगे पोस्टर को हटाते हुए भाजपा कार्यकर्ता

फसल की खरीद में देरी से भी परेशान हैं किसान

हाल ही में धान की फसल को खरीदने की तारीख सरकार ने अचानक 11 अक्तूबर कर दी है। वजह बताई जा रही है कि बारिश के कारण फसल में नमी है, इसलिए इसे खरीदा नहीं जा सकता है। किसानों को परेशानी हो रही है और वह लगातार धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। हो सकता है कि इसी कारण प्रधानमंत्री के पोस्टर पर कालिख पोती गई हो।

विरोध का यह तरीका गलत, बर्दाशत नहीं होगा

भारतीय जनता पार्टी के नेता जतिंदर गोरियन और अशीश बोनी का कहना है कि ठीक है किसी के प्रधानमंत्री से मतभेद हो सकते हैं। मगर विरोध करने का यह तरीका बुजदिली भरा है। ऐसे विरोध करके देश के सबसे बड़े प्रधानमंत्री के पद का अपमान किया गया है। जिसे बर्दाशत नहीं किया जा सकता है। उनकी ओर से पुलिस प्रशासन से मांग की गई है कि वह इस तरफ ध्यान दें।

खबरें और भी हैं...