हिंदू वोट बैंक के लिए SAD ने की जोड़-तोड़:सुखबीर बोले- कांग्रेस सरकार में हुए फैसलों की विशेष कमीशन से करवाएंगे जांच; नए CM चन्नी पर भी साधा निशाना

लुधियाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जैन समाज के समारोह में पहुंचे सुखबीर बादल। - Dainik Bhaskar
जैन समाज के समारोह में पहुंचे सुखबीर बादल।

शिरोमणि अकाली दल अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने ऐलान किया है कि पंजाब में उनकी पार्टी की सरकार के गठन के बाद विशेष कमीशन बनाकर कांग्रेस सरकार के समय हुए घोटालों और जमीनों पर हुए कब्जों की जांच करवाई जाएगी। सुखबीर यहां हिंदू वोट बैंक को साधने के लिए कई कार्यक्रमों में शामिल हुए।
सुखबीर ने कहा कि चन्नी सरकार की ओर से लिए जाने वाले तीन महीने के फैसलों का रिव्यू किया जाएगा। अगर फैसले गलत हुए तो उन पर कानून सम्मत कार्रवाई की जाएगी। लुधियाना पहुंचे सुखबीर बादल ने पूर्व स्वास्थ्य मंत्री बलवीर सिंह सिद्धू पर आरोप लगाया है कि उन्होंने जमीन पर कब्जे किए हैं। भारत भूषण आशू ने लुधियाना में न केवल जमीन पर कब्जे किए बल्कि इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट के टेंडरों में भी घोटाला किया है। इन सब मामलों की जांच विशेष कमीशन करेगा।
विकास और भाईचारा ही रहेगा एजेंडा
सुखबीर ने अगले चुनाव के एजेंडे पर कहा कि विकास और भाईचारा ही उनका एजेंडा रहेगा। लुधियाना में रुके विकास कार्य में तेजी लाई जाएगी। ऐसा मुख्यमंत्री होगा जो महीने में दो या तीन बार लुधियाना आएगा क्योंकि यह पंजाब का दिल है। यहां का विकास उनकी प्राथमिकता रहेगी।

लुधियाना में पत्रकार वार्ता करते हुए SAD अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल।
लुधियाना में पत्रकार वार्ता करते हुए SAD अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल।

कैबेनिट गठन पर कसा तंज, तीन मंत्रियों पर उठाए सवाल
सुखबीर ने पंजाब में नई कैबिनेट गठन पर तंज कसा और शामिल किए तीन मंत्रियों राणा गुरजीत, अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग और गुरकीरत कोटली पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि राणा गुरजीत रेत खनन के गंभीर आरोप के बाद कैबिनेट छोड़ गए थे। अब उन्हें फिर लिया गया है। सीएम ने पहली पत्रकार वार्ता के दौरान कहा था कि रेत माफिया उनके पास न आए और अब मंत्री पद दे दिया। उन्होंने कहा कि वड़िंग पर एक व्यापारी को खुदकुशी कर लेने के लिए मजबूर करने का आरोप है और कोटली पर महिला एनआईआई यात्री से दुष्कर्म के आरोप लगे थे।
चन्नी को बताया रबड़ स्टैंप, बस भंगडा डालने को रखा
सुखबीर ने कहा कि नए CM चरणजीत सिंह चन्नी रबड़ स्टैंप की तरह इस्तेमाल किए जा रहे हैं। वह अपनी कैबिनेट खुद नहीं बना सके। चीफ सेक्रेट्री, डीजीपी और एजी लगाने तक का फैसला नवजोत सिद्धू और रंधावा ही ले रहे हैं। उनसे तो मात्र हस्ताक्षर करवाए जा रहे हैं। उन्हें तो बस भांगडा डालने के लिए ही रखा है।
हिंदू वोट साधने पहुंचे हैं सुखबीर
सुखबीर पूरा दिन लुधियाना में अलग-अलग जगहों पर कार्यक्रमों में पहुंचे। ज्यादातर कार्यक्रम हिंदू संगठनों ने आयोजित करवाए थे। वह पहले जैन समुदाय के गुरु का लंगर समागम में शामिल हुए। इसके बाद संगला वाला शिवाला में नत मस्तक हुए और हिंदू नेताओं से बैठक की। ज्ञान स्थल मंदिर में पहुंचकर भी नतमस्तक हुए। इसके बाद अशोक मक्कड़ के घर पहुंचे और पत्रकार वार्ता की।

खबरें और भी हैं...