• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • Sunil Jakhar's Allegation On Uttar Pradesh Incident, Incident Happened Due To ML Khattar's Mischief, Deputy Chief Minister Will Visit Lakhimpur

UP की घटना से पंजाब की सियासत में उबाल:डिप्टी CM रंधावा करेंगे लखीमपुर का दौरा; सुनील जाखड़ का आरोप- मनोहर लाल खट्टर के बहकाने से हुई हिंसा

लुधियानाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में हुई 4 किसानों समेत 8 लोगों की मौत ने किसान आंदोलन को और हवा दे दी है। पूरे देश में किसानों के पक्ष में हमदर्दी पैदा कर दी है। उत्तर प्रदेश के गृह मंत्री के बेटे की गाड़ी के नीचे कुचले जाने से किसानों की मौत के बाद देशभर के किसान तो गुस्से में हैं ही, भाजपा के खिलाफ राजनीतिक जमीन भी तैयार होने लगी है। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर रंधावा, नवजोत सिंह सिद्धू और सुनील जाखड़ ने कड़ी प्रतिक्रियाएं दी हैं। उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर रंधावा तो लखीमपुर खीरी का दौरा भी करने जा रहे हैं।

दूसरी तरफ सुनील जाखड़ ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की वीडियो शेयर करके ट्वीट किया है। जिसमें सीएम नई किसान यूनियन बनाने और ग्रुप बनाने की बात कह रहे हैं और एक कहावत जैसे को तैसा का प्रसंग देते हुए कह रहे हैं कि उठा लो लाठियां, जेल जाओगे तो बड़े नेता बनकर निकलोगे। इस पर सुनील जाखड़ का कहना है कि मनोहर लाल खट्टर के बयान और यूपी की घटना को अलग- अलग नहीं देखा जा सकता, जिसके परिणामस्वरूप कई किसानों की मौत हुई। हैरानी की बात यह है कि कुछ लोगों ने पहले से ही लोकप्रिय नेता बनने के लिए सीएम हरियाणा की सलाह का पालन करना शुरू कर दिया है।

सुनील जाखड़ की ओर से किया गया ट्वीट
सुनील जाखड़ की ओर से किया गया ट्वीट

नवजोत सिद्धू ने की हत्या का मामला दर्ज करने की मांग

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में हुए घटनाक्रम के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने गृह मंत्री के बेटे पर हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की है। उनका कहना है कि यह सोची समझी साजिश है। कानून के ऊपर कुछ भी नहीं है, कैबिनेट मंत्री के बेटे को तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए। उसने निर्दोष किसानों की जान ली है।

नवजोत सिंह सिद्धू की तरफ से किया गया ट्वीट
नवजोत सिंह सिद्धू की तरफ से किया गया ट्वीट

अब उत्तर प्रदेश में संघर्ष करेगा मोर्चा
दूसरी तरफ संयुक्त किसान मोर्चा ने भी ऐलान कर दिया है कि इस घटना को बर्दाशत नहीं किया जा सकता है। मोर्चा की तरफ से रविवार देर रात ही मीटिंग करके इस पर विचार विमर्श किया गया और आरोपी की गिरफ़्तारी नहीं होने तक संघर्ष करने का ऐलान कर दिया। किसान नेता राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव ने ऐलान किया है कि दिल्ली में चल रहा संघर्ष जारी रहेगा। लेकिन ज्यादा से ज्यादा किसानों को लखीमपुर पहुंचना चाहिए, ताकि वहां के किसानों को इंसाफ दिलाया जा सके।

खबरें और भी हैं...