पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सरकारी स्कूलों में दाखिला बढ़े:जिले में 39 स्कूलों के अध्यापकों ने खुद दाखिले का टारगेट किया तय

लुधियाना25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
- उज्जवलवीर सिंह, प्रिंसिपल, गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल ढंडारी खुर्द - Dainik Bhaskar
- उज्जवलवीर सिंह, प्रिंसिपल, गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल ढंडारी खुर्द
  • सरकारी स्कूलों में दाखिला बढ़ाने को छुट्टियों में भी 2-2 अध्यापकों की लग रही ड्यूटी

सरकारी स्कूलों में एडमिशन बढ़ाने के लिए अब सरकारी स्कूलों के हेड व अध्यापकों द्वारा खुद के लिए टारगेट तैयार कर लिए हैं। स्कूलों द्वारा अपने ही स्तर पर पिछले साल के मुकाबले 10-15 फीसदी ज्यादा एडमिशन करने का लक्ष्य निर्धारित कर लिया है। सूबे में ऐसे 180 स्कूल हैं, जिन्होंने ये पहल की है, जबकि लुधियाना के 39 स्कूलों ने अपने लिए लक्ष्य रखा है। ये स्कूल अध्यापक इन कोशिशों में लगे हैं कि सरकारी स्कूलों को प्राइवेट स्कूलों के मुकाबले खड़ा किया।

ऐसे में गर्मियों की छुट्टियों में भी अध्यापकों द्वारा छुट्टियां न मनाते हुए समर कैंप, दाखिला मुहिम, गणित की स्पेशल क्लासेस चलाई जा रही हैं। ताकि छुट्टियों के दौरान भी स्टूडेंट्स से संपर्क न टूटे और उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया जाता रहे।

20 मई के आंकड़ों के अनुसार सूबे में 2021-22 सेशन के लिए अब तक 2969182 स्टूडेंट्स की एडमिशन हो चुकी है। इनमें से 188942 स्टूडेंट्स प्राइवेट स्कूलों से आए हैं। हालांकि हाई कोर्ट के स्कूल लिविंग सर्टिफिकेट के साथ एडमिशन करने के आदेश से इस मुहिम पर कुछ अड़चन आ सकती है। लेकिन अध्यापकों द्वारा फिर भी अपने टारगेट पर नजर रखी हुई है।

स्कूल में दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में करते हैं जागरूक

हमने अपने स्तर पर भी लक्ष्य निर्धारित किया है। जिसे पूरा करने के लिए हम रोजाना काम कर रहे हैं। इसके लिए छुट्टियों के दौरान भी हमने 2-2 अध्यापकों की ड्यूटी लगाई है जो रोजाना स्कूल जाते हैं। इस दौरान वो स्कूल जाकर पेरेंट्स की एडमिशन, किताबों व सिलेबस को लेकर जो भी सवाल हैं उनका हल करते हैं। इस हेल्प डेस्क पर रोजाना 3-4 पेरेंट्स आ रहे हैं। हमें उम्मीद है कि हम अपना लक्ष्य पूरा कर लेंगे।

- उज्जवलवीर सिंह, प्रिंसिपल, गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल ढंडारी खुर्द

वॉट्सएप ग्रुप बना पेरेंट्स तक पहुंचाई जा रही सभी जानकारी

‘हमारे स्कूल में प्राइवेट स्कूलों से भी कई स्टूडेंट्स ने एडमिशन ली है। टीचर्स जहां स्कूलों में मिलने वाली सुविधाओं के बारे में जागरूक कर रहे हैं। वहीं सोशल मीडिया का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। जिससे कि जागरूकता बढ़ाई जा सके। स्कूल के विभिन्न क्लासेस के बने वाट्सएप ग्रुप से भी अन्य पेरेंट्स तक पहुंच बनाई जा रही है।

- जसविंदर कौर, हेड टीचर, चनन देवी मेमोरियल गवर्नमेंट प्राइमरी स्कूल

खबरें और भी हैं...