पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • The AGM Did Not Discuss The Agenda, The Officers Signed And Walked, DC Said On Running The Bus Ask The Commissioner, Sabharwal Said Just The Meeting

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सिटी बस सर्विस:एजीएम में एजेंडा न चर्चा, साइन कर चलते बने अफसर, बस चलाने पर डीसी बोले- कमिश्नर से पूछो, सभ्रवाल ने कहा-सिर्फ मीटिंग की

लुधियाना4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोनाकाल से पहले चल रही थी 67 बसें, अब मात्र 25-26 ही ऑन रोड वो भी दो रूटों पर

शहर की एक मात्र पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिटी बस सर्विस पिछले 12 सालों से शहरवासियों को लोकल ट्रांसपोर्ट की सुविधा पूरी तरह से देने में फेल साबित हुई है। मौजूदा हालात ये आए हैं कि कोरोना काल से पहले जिन 5 रूटों पर सिटी बस सर्विस चल रही थी, उसे कुछ समय के लॉकडाउन और कर्फ्यू के दौरान बंद कर दिया था। अभी सिर्फ दो रूटों पर हीं बसें चल रही हैं।

वहीं, पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर प्रशासन की संजीदगी शुक्रवार को नगर निगम जोन-ए में सिटी बस सर्विस को लेकर एनुअल जनरल मीटिंग में देखने को मिली। मीटिंग के दौरान सिटी बस सर्विस की सुविधा शहरवासियों को और बेहतर तरीके से देने के लिए कोई एजेंडा ही नहीं रखा गया।

मात्र 25-30 मिनट की मीटिंग में कागजों पर दस्तखत करते हुए सालाना मीटिंग की खानापूर्ति करते हुए डिप्टी कमिश्नर, निगम कमिश्नर समेत मेंबर अपने-अपने दफ्तरों को रवाना हो गए। वहीं वोट के लिए हर राजनीतिक दल के लिए सिटी बस सियासी मुद्दा जरूर बनती रही है।

12 साल पहले शुरू हुई सिटी बस सर्विस पर एक नजर

65.30 करोड़ में 120 बसें खरीदी गईं, जो 10 रूटों पर चलनी थी। इनमें से 83 बसों को सिर्फ 6 रूट पर चलाया गया। इसके बाद 5 रूट ही रह गए और ऑन रोड बसों की संख्या 67 पर आ गई। जबकि शुरू से लेकर अभी तक 19.61 करोड़ की 37 बसों को तो सड़क पर उतारा ही नहीं गया।

जानिए सिटी बस सर्विस क्यों है ज्यादा जरूरी: 12 साल पहले सिटी बस सर्विस शहरवासियों के लिए शुरू की गई थी। कोरोना काल से पहले 67 बसें चल रहीं थीं। कर्फ्यू और लॉकडाउन के चलते इन्हें बंद किया गया। इसके बाद हाल ही में शुरू हुई तो मौजूदा समय में करीब 25-26 बसें ही चल पाई हैं, जिन्हें दो रूट पर चलाया गया है।

बाकी रूट पर बसें शुरू नहीं की गई। सिटी बस सर्विस की सुविधा न मिलने से लोगों को मनमाने रेट पर चल रहे ऑटो में सफर करने को मजबूर होना पड़ रहा है। अगर सभी रूट पर सिटी बस सर्विस शुरू जाती है तो आम लोगों को रोजाना कामकाज पर जाने के लिए महंगा सफर तय नहीं करना पड़ेगा।

अधिकारियों की गंभीरता देखिए: सिटी बस के बारे में जब डीसी वरिंदर शर्मा से बात की तो उन्होंने कहा कि निगम कमिश्नर एनुअल जनरल मीटिंग के चेयरमैन हैं, आप उन्हीं से बात करें। उधर, जब निगम कमिश्नर प्रदीप कुमार सभ्रवाल से बात की तो उन्होंने ये कह दिया कि मीटिंग में सिटी बस सर्विस को लेकर कोई एजेंडा नहीं रखा था, सिर्फ जनरल मीटिंग की गई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थिति तथा समय में तालमेल बिठाकर कार्य करने में सक्षम रहेंगे। माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति मन में सेवा भाव बना रहेगा। विद्यार्थी तथा युवा अपने अध्ययन तथा कैरियर के प्रति पूरी तरह फोकस ...

और पढ़ें