सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन:सफाई कर्मचारियों ने नगर निगम लुधियाना के गेट पर लगाया ताला, फूंकेंगे निकाय मंत्री का पुतला

लुधियानाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लुधियाना नगर निगम के बाहर प्रदर्शन करते हुए कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
लुधियाना नगर निगम के बाहर प्रदर्शन करते हुए कर्मचारी।

पंजाब सरकार की तरफ से कच्चे मुलाजिमों को पक्का करने के किए वादे के पूरा नहीं होने पर नगर निगम के अधीन काम करने वाले सफाई मुलाजिमों का संघर्ष जारी है। नगर निगम के सफाई कर्मचारियों और सीवरमैन की तरफ से नगर निगम के जोन ए कार्यालय के गेट को बंद करके वहां पर प्रदर्शन किया जा रहा है। उनकी तरफ से मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और पंजाब सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की गई है।

उनकी तरफ से निकाय मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा का पुतला फूंका जाएगा। सफाई कर्मचारी और सीवरमैनों की तरफ से मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का पुतला फूंका गया है। म्यूनिसिपल कर्मचारी दल के चेयरमैन और अध्यक्ष चौधरी यशपाल की अगुवाई में यूनियन की तरफ से नगर निगम जोन ए के कार्यालय के समक्ष गेट रैली भी की गई। इस दौरान यूनियन नेताओं ने कहा कि चन्नी सरकार की तरफ से बाकी समूह विभागों के मुलाजिमों को पक्का किया जा रहा है।

वहीं नगर निगम के सफाई कर्मचारी सीवरमैन और अन्य दर्जा चार मुलाजिमों के साथ मतरेई मा वाला सलूक किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा सफाई कर्मचारियों को पक्का न करना ज्यादती है। इतिहास गवाह है कि जब भी किसी शासन ने अपनी प्रजा के साथ धक्का किया है तो उसका अंत हुआ है। चन्नी सरकार के खिलाफ अब संघर्ष और तेज किया जाएगा। अगर उनकी सुनवाई नहीं हुई तो वह निगम का गेट बंद ही रखेंगे।

चन्नी सरकार कर चुकी है कर्मचारियों के हड़ताल का समर्थन
यूनियन नेता चौधरी यशपाल का कहना है कि कोरोना काल के दौरान सफाई कर्मचारियों ने अपनी जान जोखिम में डालकर सेवा की है। कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार के समय जब मुलाजिमों की तरफ से हड़ताल की गई थी तो चरणजीत सिंह चन्नी तब मंत्री थे और उनकी तरफ से हड़ताल का समर्थन करते हुए उनकी मांगों को जायज बताया गया था। अब उनकी सरकार के 50 दिन निकल चुके हैं, मगर उनकी तरफ से उनकी समस्या का कोई हल नहीं किया गया है।

पहले फूंका गया था चरणजीत सिंह चन्नी का पुतला

इससे पहले नगर निगम के मुलाजिम मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का पुतला फूंक चुके हैं और कई दिन से नगर निगम के गेट पर रैली भी कर रहे हैं। उनका साथ शिरोमणि अकाली दल बादल के नेता भी दे रहे हैं। धरने में अकाली नेता विजय दानव, गुरदीप गोशा, हरभजन डंग भी संबोधित कर चुके हैं।

खबरें और भी हैं...