पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना का खौफ:बीमारी से मरे मजदूर का शव मोहल्ले में लाने से रोका, सारी रात खाली प्लॉट में लाश लेकर बैठे रहे रिश्तेदार

लुधियानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मजदूर की मौत के बाद परिजनों से बात करती पुलिस।
  • बाजीगर बस्ती की घटना, संक्रमण फैलने के डर से किया विरोध

कोरोनाकाल में मरीजों की लगातार मौतें होने से लोग खौफ में हैं। यहां तक कि दूसरी बीमारियों से होने वाली मौत को भी कोरोना से जोड़ कर ही देखने लगे हैं। ऐसे ही एक मामले में बाजीगर बस्ती इलाके में सोमवार रात मजदूर की मौत हो गई। परिजन शव लेकर घर पहुंचे तो मोहल्ले के लोगों ने उन्हें घुसने नहीं दिया और वो सारी रात मृतक अनिल (50) के शव को प्लॉट में रख बैठे रहे। सुबह जब संस्कार के लिए पहुंचे तो लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची सलेमटाबरी पुलिस ने जांच के बाद शव का पोस्टमार्टम करवा दिया। फिलहाल परिवार ने कोई कार्रवाई नहीं करवाई।

श्मशानघाट के प्रबंधकों ने भी मांगे दस्तावेज

रिश्तेदार दीपू ने बताया कि अनिल डाइंग फैक्ट्री में काम करता था। सोमवार शाम उसकी तबीयत खराब हुई और वो चक्कर खाकर गिर गया। वर्करों ने उसे उठाया और अस्पताल ले गए, जहां पहुंचने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जब वो अनिल के शव को लेकर घर पहुंचे तो मोहल्ले के लोगों ने उन्हें अंदर नहीं आने दिया। उन्होंने कहा कि अनिल की मौत कोरोना से हुई है, अगर वो शव यहां लाए तो कोरोना फैल सकता है।

इसके बाद पीड़ित पक्ष ने शव को उठाया और उसे इलाके के एक खाली प्लॉट में लेकर सारी रात बैठे रहे। सुबह हुई तो वो श्मशानघाट पहुंच गए, लेकिन प्रबंधकों ने दस्तावेज मांगे तो उनके पास मौत का कोई कारण नहीं था। तभी लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने डॉक्टरों से पूछा तो पता चला कि उसकी मौत बीमारी से हुई है। फिर उन्होंने शव का संस्कार करवाया। उधर, एसएचओ गोपाल कृष्ण ने बताया कि किसी ने कंट्रोल रूम पर सूचना दी थी कि कोरोना मरीज का संस्कार किया जा रहा है, लेकिन वेरिफाई किया तो वो गलत था।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें