• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • The Leader Said In Response To The Notice, "I Was Campaigning, People Gathered Themselves", Dissatisfied Commission Filed A Case

कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाने पर FIR:नोटिस का जवाब- मैं प्रचार कर रहा था लोग खुद इकट्‌ठा हुए", असंतुष्ट आयोग ने दर्ज करवाया केस

लुधियाना7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुभाष शर्मा, जिस पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है। - Dainik Bhaskar
सुभाष शर्मा, जिस पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है।

पंजाब में लगातार कोरोना केस बढ़ रहे हैं, लेकिन विधानसभा चुनाव प्रचार करते हुए नेता कभी लोहड़ी तो कभी पतंगबाजी के नाम पर लोगों को इक्ट्ठा कर रहे हैं। जिससे मरीजों की संख्या 14 दिनों में 100 गुणा ज्यादा बढ़ी है। इसलिए अब प्रशासन हरकत में आने लगा है। देहात पुलिस ने थाना दाखा में आम आदमी पार्टी के दाखा विधान सभा क्षेत्र से संभावित उम्मीदवार सुभाष शर्मा पर आपराधिक मामला दर्ज किया है। आरोप है कि उनकी तरफ से दाखा के गांव मानावाल में चुनावी सभा की गई। यहां पर बड़ी संख्या में लोग हाजिर थे और किसी ने भी इस दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का ध्यान नहीं रखा था।

एसडीएम कम चुनाव अधिकारी दाखा की तरफ से पहले सुभाष शर्मा को नोटिस जारी करते हुए जवाब मांगा गया। जवाब में सुभाष शर्मा ने कहा कि वह तो पार्टी का प्रचार कर रहे थे कि लोग खुद-ब-खुद इक्ट्ठा हो गए थे। इस जवाब के बाद उसके खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने यह मामला नैशनल डिजास्टर एक्ट की धारा 188 के तहत दर्ज किया है। अगर अदालत में यह मामला चलता है तो आम आदमी पार्टी के नेता को छह माह की कैद काटनी पड़ सकती है। बहरहाल उसे थाने से ही जमानत पर छोड़ दिया गया है।

5 लोगों के साथ ही कर सकते हैं प्रचार

कोरोना की तीसरी लहर तेजी से विकराल रूप ले रही है। इस कारण चुनाव आयोग की तरफ से किसी भी तरह की रैलियों और चुनाव प्रचार पर पाबंदी लगाई गई है। यह आदेश 15 जनवरी तक लागू थे और आज इसका रिव्यू किया जाना है। मगर आज भी इससे रियायत मिलती नजर नहीं आ रही है। जिस कारण सभी नेताओं को इस पर ध्यान देना होगा और 5 लोगों के साथ ही प्रचार करना होगा। मगर इसका पालन होता दिखाई दे नहीं रहा है।

सभी इस तरह कर रहे, हम ही निशाना क्यों

आम आदमी पार्टी के नेता अमनदीप मोही कहते हैं कि अकेले वह ही नहीं, बल्कि सभी पार्टियों की तरफ से इसी तरह से चुनाव प्रचार किया जा रहा है। मगर अधिकारी उन पर ही कार्रवाई कर रहे हैं। रोजाना जिले में अलग-अलग जगहों पर चुनावी जन सभाएं की जा रही हैं, मगर कार्रवाई नहीं हो रही है। चुनाव आयोग की तरफ से इस तरह कार्रवाई करना एक तरफ की कार्रवाई दिख रही है।

खबरें और भी हैं...