पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऐसी लापरवाही पड़ रही भारी:सवारियों को नहीं किया जा रहा सेनेटाइज, कर्मी भी बिना मास्क घूम रहे

लुधियाना19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रीत सिनेमा के पास यात्री बिना किसी चेकिंग बस में चढ़ते हुए। - Dainik Bhaskar
प्रीत सिनेमा के पास यात्री बिना किसी चेकिंग बस में चढ़ते हुए।
  • कई मुलाजिम संक्रमित आने के बावजूद न बस स्टैंड, न ही बसों में करवाई सेनेटाइजेशन

देशभर में कोरोना की दूसरी लहर कई लोगों को चपेट में ले चुकी है। इसमें कई लोग जान भी गंवा चुके हैं। वहीं, पंजाब रोडवेज के अधिकारी अब भी एहतियात न बरतकर लोगों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं। कई जिलों में पंजाब रोडवेज के मुलाजिम भी संक्रमित आ चुके हैं। इसके बावजूद न तो बस स्टैंड में सेनेटाइजेशन करवाई गई और न ही बसों में।

इससे संक्रमण का खतरा बरकरार है। बस स्टैंड में एंट्रेस से लेकर टिकट काउंटर, पैसे देने, बसों में सवारियां चढ़ाने पर भी उनके हाथों को सेनेटाइज नहीं कराया जा रहा। हालांकि बसों में सवारियों की संख्या 50 फीसदी ही है, परंतु रोजाना कई सवारियां बसों में सफर करती हैं।

बता दें कि पिछली बार जब कोरोना संक्रमण के मामले अधिक नहीं थे तो बस अड्डे को हर जगह सेनेटाइजेशन किया जा रहा था। टिकट कटवाने, बसों में सवारियां चढ़ाने से पहले भी हाथों को सेनेटाइज किया जाता रहा। यहां तक कि बसों में मुलाजिमों को भी सेनेटाइज दिए गए थे और ट्रांसपेरेंट शीट लगाई गई थी। परंतु इस बार ऐसा न कर मुलाजिमों को पंजाब रोडवेज ने संक्रमित होने के लिए छोड़ दिया है। ऐसे में इस बार लापरवाही की गई है।

कई सवारियां बाहर सड़क के मुख्य चौक से ही बसों में चढ़ जाती हैं। हालांकि बसों में सड़क से सवारी चढ़ाने के लिए अभी तक कोई भी गाइडलाइन या रोक-टोक नहीं है। यहीं नहीं किसी भी सवारी का टेंपरेचर तक चेक नहीं किया जा रहा है।

वहीं, पनबस कॉन्ट्रेक्टर वर्कर्स यूनियन के डिपो प्रधान शमशेर सिंह, उप-प्रधान गुरप्रीत सिंह ने बताया कि अब तक सूबे के कई जिलों से पंजाब रोडवेज मुलाजिम संक्रमित हो चुके हैं। लुधियाना में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ सकती है, इसलिए पंजाब रोडवेज बसों को रोजाना सेनेटाइज करें और सभी के लिए मास्क और सेनेटाइजर मुहैया करवाएं।

इन जगहों पर रहे संक्रमित: पट्‌टी डिपो में आठ, सब डिपो फाजिल्का में सात, तरनतारन डिपो में सात, अमृतसर-1 डिपो में दो, श्री मुक्तसर साहिब डिपो में आठ, होशियारपुर डिपो में पांच, जालंधर डिपो-2 में छह, जालंधर डिपो-1 में 11, अमृतसर-2 में 16 संक्रमित आ चुके हैं।

बसों को सेनेटाइज किया जा रहा है। सभी मुलाजिमों को सेनेटाइज दिए गए हैं। दो अधिकारियों की ड्यूटी लगाई थी, जिन्होंने बस स्टैंड का दौरा भी किया था। लोग अपने सेनेटाइजर साथ लेकर आते हैं, इसलिए बस में दाखिल होते समय उनके हाथों को सेनेटाइज नहीं किया जा रहा।

-रशपाल, जीएम, बस स्टैंड

खबरें और भी हैं...