न नशा लॉक, न तस्कर डाउन / तस्कर ने पैसे लेकर नहीं दिया चिट्टा तो उसके घर के बाहर फेसबुक लाइव हो गया ग्राहक

X

  • कोट मंगल सिंह में तस्कर ने ग्राहक को पीटा, हंगामा
  • गुर्गे तस्कर को नशे की ओवरडोज देकर थाने पहुंचे, पुलिस ने कोरोना के डर से लौटाया

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:53 AM IST

लुधियाना. पुलिस बेशक नशे के सफाए की बात कह रही हो, लेकिन असलियत में चिट्टा खुलेआम बिक रहा है। इसे किसी सबूत या गवाही की जरूरत नहीं। इसका जीता-जागता सबूत शुक्रवार सुबह देखने को मिला। जब कोट मंगल सिंह गली नंबर 22 में जहां नशा लेने आए ग्राहक को तस्कर ने गुर्गों की मदद से पीटा और नशा नहीं दिया तो वो फेसबुक पर लाइव हो गया। उसने अपने एक-एक शब्द में पुलिस के खुफिया तंत्र की धज्जियां उड़ा दी और सोचने पर मजबूर कर दिया कि क्या पुलिस वाक्या में नशा खत्म करना चाहती है। हुआ यूं कि नशा लेने के िलए रणबीर राजपूत तस्कर के घर पर पहुंचा। जहां उसने तस्कर को पैसे दिए और उससे चिट्टे की डोज मांगी। मगर तस्कर ने उसे नशा नहीं दिया और पैसे रख लिए। इसके बाद ग्राहक ने हंगामा शुरू कर दिया। मोहल्ले में जोर-जोर से नशे के लिए चिल्लाने लगे। गुस्से में आए तस्कर ने अपने गुर्गों की मदद से रणबीर को बुरी तरह पीटा। मगर मार खाने के बाद भी ग्राहक घर के बाहर से नहीं हिला। वो तस्कर के गेट के बाहर बैठ फेसबुक पर लाइव हो गया।

गुर्गे तस्कर को नशे की ओवरडोज देकर थाने पहुंचे, पुलिस ने कोरोना के डर से लौटाया

करीब 7 मिनट की दो वीडियो बनाने के बाद रणबीर तो वहां से चला गया, लेकिन पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। वीडियो किसी तरह से अफसरों तक पहुंच गई। आला अफसरों ने थाना डिवीजन 6 के एसएचओ अमरजीत सिंह को फोन कर मामले की जांच को कहा। सूत्रों के मुताबिक एसएचओ जांच के लिए इलाके में पहुंचे, लेकिन उन्हें कुछ नहीं मिला। मगर उन्होंने सर्च करने की बजाय एक दुकान में बैठ गए। जहां आए तस्कर के दो गुर्गों ने कहा कि वो उसे लेकर थाने आ जाएंगे। इसके बाद एसएचओ वहां से आ गए। दोपहर के तस्कर के दोनों गुर्गे तस्कर को नशे की ओवरडोज देकर साथ थाने ले गए। जहां उन्होंने थाने में कहा कि सर, इसका नशा किया हुआ है और कोरोना का भी डर लगता है। लिहाजा इसे थाने में न ही बैठाया जाए तो ज्यादा अच्छा होगा। इसके बाद तीनों को वहां से पुलिस ने कोरोना के डर से ही भेज दिया। जबकि अधिकारियों को रिपोर्ट दी गई कि लोगों को राउंडअप किया जा रहा है।

फेसबुक लाइव तस्करां ने मुंडेयां दे टीके ला-ला के शरीर गाल दित्ते...

हां जी दोस्तों, साड्डे कोट मंगल सिंह नगर बोहत वड्डी मुसीबत आई होई ऐ। इस इलाके दा हर बंदा नशेड़ी बण चुकेआ, ओहो कोट मंगल सिंह विच इक घर ने बणाया। ओहनां नूं पैसे कमाण तो मतलब ऐ, पंज-चार बदमाश बंदेया नूं। अगर कोई बोलदा तां ओहनू कुटवा दिंदा। ओहो कैहंदा कि मेरी सीपी तक पहुंच ऐ, थाणे दा एसएचओ मेरा लवाया होआ। तूं जित्थे तक मर्जी जा, जो मर्जी कर। ऐहनां तस्करां ने मुंडेयां दे टीके ला-ला के ओहना दे शरीर गाल दित्ते ने, अपने छत से बैठा के टीके लवांदे नें। सारी मैं अज्ज तक कदी वीडियो नी पाई सी, मगर पाणी पई। साड्डे एरिये दा क नाम दे अक्षर वाला बंदा चिट्टा वेचदा है, जिस तों मोहल्ले वाले परेशान ने। हो सकदा की साड्डे एमएलए नूं वी ऐहदी खबर होवे, मगर ओहो तस्कर केहंदा मैं किसे तों नी डरदा। मैं वी सामान लाना, एेहना ने मैनूं वी सामान दा पक्का कर दित्ता होया। कदी मैनूं कैहंदा कि 50 हजार लेया के दे। तस्कर दा भरा ओहनू रोज 50-60 ग्राम नशा लेआ के दिंदा, क्योंकि ओहो आप वी तस्कर ऐ, पहले एटीएम बदल के ठगी मारण दा कम्म करदा सी। ओहदा नाम स तों है। पहले ऐहनां नूं रोटी खाण नूं नी सी मिलदी ते हुण पिज्जा खांदे ने। रोज 70 तों 80 बंदे ऐहना दे घर नशा करके जांदे ने, ऐहदी मां, पियो ते भरा सारे नाल रले होए ने। मेरी बेनती है कि लोकां दे बच्चे बचा लो। इसके बाद जिस तस्कर के घर के बाहर ग्राहक बैठा था, वो गाली-गलौज करने लगा और ग्राहक पर आरोप लगाने लगा कि वो नशा बेचता है। उसने लोग मरवाए हैं। 

70-80 युवकों को घर की छत पर देता है नशा

नाम न छापने की शर्त पर मोहल्ले में रहने वाले एक शख्स ने बताया कि उस घर में नशा का खुला कारोबार होता है। डरता कोई शिकायत नहीं करता, क्योंकि वहां आपराधिक प्रवृति के लोग आकर बैठे रहते हैं और शिकायत करने वालों के घर पर हमला करवा दिया जाता है। तस्करों ने घर की छत पर एक कमरा बनाया है, जहां उन्हें 70 से 80 युवकों को नशा भी करवाया जाता है। शिकायत भी गई थी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना