• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • The Woman Along With The People Staged A Sit in Outside The Police Station, Taking Unilateral Action In The Fight And Filing A Wrong Form

धरना:महिला ने लोगों समेत थाने के बाहर दिया धरना, मारपीट में एकतरफा कार्रवाई कर गलत पर्चा दर्ज करने का आरोप

लुधियाना11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगाकर महिला ने परिवार और इलाके के लोगों समेत थाना जमालपुर के बाहर धरना लगाया

मारपीट मामले में एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगाकर महिला ने परिवार और इलाके के लोगों समेत थाना जमालपुर के बाहर धरना लगाया। महिला का आरोप है कि ट्रांसपोर्ट मालिक-ड्राइवरों ने भी उनसे मारपीट की और पुलिस ने भी एकतरफा कार्रवाई कर सिर्फ उन पर मामला दर्ज कर लिया। सूचना मिलने पर एसीपी सिमरनजीत सिंह मौके पर पहुंचे। उन्होंने प्रदर्शनकारियों को कार्रवाई का आश्वासन दिया। उन्होंने संबंधित जांच अफसर को दोनों पक्ष बुलाकर उनकी शिकायतें लेकर बनती कार्रवाई के आदेश दिए। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शन खत्म कराया।

हरी नगर की अमनदीप कौर ने बताया कि वह इलाके में पड़ते राम सिंह पेट्रोल पंप के सामने चिकन की रेहड़ी लगाती है। वहीं, पंप के पास गुरविंदर सिंह की धालीवाल ट्रांसपोर्ट है। उनका आरोप है कि ट्रांसपोर्ट मालिक और उनके ड्राइवर अकसर उससे गलत शब्दावली इस्तेमाल करते थे। करीब 20 दिन पहले उसने विरोध जताया तो सभी आरोपियों ने ऑफिस में गलती स्वीकारी थी। इसके बाद पहली अक्टूबर को देर रात सभी ने मिलकर उसके घर पर हमला कर दिया। इसकी उसने पुलिस शिकायत भी दी थी, लेकिन फिर भी पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। दूसरे पक्ष के गुरविंदर सिंह ने बताया कि महिला रेहड़ी पर लोगों को अवैध ढंग से शराब पिलाती थी। इस कारण शराबी वहां पर बोतलें और सामान फेंक जाते हैं। उनका वहीं ट्रांसपोर्ट का कारोबार है। उन्होंने कई बार अमनदीप को शिकायत की, लेकिन वह आगे से झगड़ा करती थी। एक अक्टूबर रात को अमनदीप ने रिश्तेदार और अन्य जानकारों समेत पहले उनके ड्राइवर के साथ मारपीट की। उनका साथी कुलविंदर मौके पर पहुंचा तो उन्होंने मारपीट कर खंभे से बांध लिया।

फिर पुलिस ने उसका बचाव किया, जबकि पुलिस का कहना था कि घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर जाकर सीसीटीवी कैमरे चेक किए थे। इसमें महिला और साथियों की ओर से धालीवाल ट्रांसपोर्टर के ड्राइवरों-स्टाफ को पीटने की फुटेज आई थी। इस आधार पर मामला दर्ज किया था। एसीपी सिमरनजीत सिंह के अनुसार पुलिस ने बिना दबाव के सबूतों के आधार पर कार्रवाई की। मामले की जांच की जा रही है। दोनों पक्षों को बुलाया गया है।

खबरें और भी हैं...