पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • There Is No Solution In Meeting The DMO To Start A Hawker; Jalandhar Bypass Vegetable Market Has More Than 800 Barricades Closed

मीटिंग बेनतीजा:रेहड़ी-फड़ी शुरू कराने के लिए डीएमओ से मीटिंग में कोई हल नहीं; जालंधर बाईपास सब्जी मंडी में करीब 800 से ज्यादा रेहड़ी-फड़ी करवाई गई बंद

लुधियानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गिल रोड पर लगी सब्जी मंडी में लगी लोगों की भीड़। - Dainik Bhaskar
गिल रोड पर लगी सब्जी मंडी में लगी लोगों की भीड़।

पंजाब सरकार ने आदेश जारी कर जालंधर बाईपास स्थित सब्जी मंडी में करीब 800 से ज्यादा रेहड़ी-फड़ी को बंद करवा दी हैं। इसे शुरू करवाने के लिए रेहड़ी-फड़ी लगाने वाले लोग मार्केट कमेटी, डीसी दफ्तर और डीएमओ के पास चक्कर काट रहे हैं। मगर हर तरफ निराशा ही हाथ लगी। आढ़ती भी रेहड़ी-फड़ी शुरू करवाने के हक में आला अफसरों तक पहुंच लगाने में जुटे हैं, क्योंकि रेहड़ी-फड़ी लगने से ही उनके सामान की बिक्री होगी। इसके चलते न्यू सब्जी मंडी आढ़ती एसोसिएशन के उप-प्रधान रचिन अरोड़ा ने भी वीरवार को डीएमओ के साथ रेहड़ी-फड़ी लगाने वाले लोगों से मीटिंग करवाई, मगर यह बेनतीजा रही।

दो भागों में बांट रेहड़ी-फड़ी अलग-अलग लगाने का दिया था सुझाव
रचिन अरोड़ा ने बताया कि सब्जी मंडी में करीब 800 से अधिक रेहड़ी-फड़ी लगती है, जोकि आढ़तियों से ही सामान लेकर बेचते हैं। अगर वहीं नहीं खुलेंगी तो वह सामान कहां और किसे बेचेंगे। सब्जियां खरीदने आए वेंडर अधिक सामान नहीं खरीद पाते और उनका सामान बच जाता है। मंडी में लगने वाली रेहड़ी-फड़ी को दो भागों में बांट अलग-अलग लगाई जाए तो भीड़ कम हो सकती है।

इस सुझाव पर भी डीएमओ ने सहमति नहीं जताई और स्पष्ट इनकार कर दिया। बता दें कि रेहड़ी-फड़ी शुरू करवाने के लिए बुधवार को कुछ आढ़तियों ने चेयरमैन दर्शन लाल बवेजा के पास भी सिफारिश की थी और उन्होंने भी मनाकर दिया था। मार्केट कमेटी के सचिव टेक बहादुर ने कहा कि सरकार के आदेशों का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं किया जाए। अगर को रेहड़ी फड़ी मंडी में लगेगी तो उस पर कार्रवाई की जाएगी।

आढ़तियों ने रेहड़ी-फड़ी शुरू करवाने के लिए मीटिंग बुलाई। इसमें साफ मनाकर दिया कि सरकार के आदेशों की बिल्कुल भी उल्लंघन नहीं होने दिया जाएगा। रेहड़ी-फड़ी यूनियन के लोग डीसी से भी मिलकर आए थे और डीसी ने भी उन्हें इजाजत नहीं दी। -दविंदर सिंह, डीएमओ

खबरें और भी हैं...