खुद को पुलिस अधिकारी बताने वाले 2 काबू:बाइक चोरी केस में गिरफ्तार बेटे को बचाने के लिए मां से ठगे 32 हजार

लुधियानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

पंजाब के लुधियाना के कस्बा हठूर में पुलिस ने 2 ऐसे लोगों को काबू किया है जो खुद को पुलिस अधिकारी बता कर लोगों को ठगते थे। यह ठग लोगों को फोन पर ब्लैकमेल और डरा धमकाकर पैसे मांगते थे। थाना हठूर में संगीन धाराओं के तहत आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज गिया है।

थाना हठूर के प्रभारी हरदीप सिंह ने बताया कि गांव झोरड़ा की रहने वाली रणजीत कौर ने शिकायत में कहा है कि थाना हठूर पुलिस ने उसके बेटे परमिंदर सिंह के खिलाफ 17 अप्रैल 2022 को मोटरसाइकिल चोरी करने का मामला दर्ज हुआ था। मोटरसाइकिल छीनने के आरोप में 18 अप्रैल 2022 को पुलिस ने उसके बेटे को गिरफ्तार कर लिया था। इस बीच उसे एक व्यक्ति का फोन आया जिसने अपना नाम बलराज सिंह गांव मल्लेआना बताया। उस व्यक्ति ने कहा कि वह थाना हठूर में पुलिस कर्मचारी के तौर पर तैनात है और उसके बेटे परमिंदर सिंह के ऊपर थाना हठूर में मोटरसाइकिल छीनने के आरोप में मामला दर्ज हुआ है।

32 हजार रुपए मांगे थे

अगर तुम अपने बेटे को बचाना चाहती हो तो तुम मुझे 32 हजार रुपए दे दो। उक्त युवक ने कहा कि वह उसके बेटे को इस मामले से बाहर निकलवा देगा। महिला रणजीत कौर ने बताया कि 19 अप्रैल 2022 को उसने अपने पति के अकाउंट से 20 हजार रुपए की नकदी निकाल कर गांव माणूके की 1 दुकान से गूगल-पे के माध्यम 20 हजार रुपए की नकदी अपने आपको पुलिस कर्मचारी बताने वाले बलराज सिंह के खाते में ट्रांसफर करवा दी।

अगले दिन 1 बार फिर उसने 12 हजार रुपए की नकदी गूगल-पे के जरिए बलराज सिंह के खाते में ट्रांसफर करवा दी। रणजीत कौर ने बताया कि बलराज सिंह के खाते में पैसे ट्रांसफर किए जाने के बाद उसे किसी और नम्बर से व्यक्ति का फोन आया और वह उसे थाना हठूर पुलिस का बड़ा अधिकारी बताते हुए उससे 17 हजार रुपए की मांग करने लगा। उस व्यक्ति ने कहा कि अगर वह उसे पैसे दे देती है तो वह उसके लड़के को छोड़ देगा।

रणजीत कौर कौर ने बताया कि उसने उसे पैसे देने से मना कर दिया। जब उसने इस मामले की खुद जानकारी ली तो उसे पता चला कि यह दोनों व्यक्ति नकली पुलिस कर्मचारी हैं और उसे पुलिसकर्मी बताकर धोखाधड़ी कर रहे। खुद को पुलिस कर्मचारी बताने वाले का असली नाम सुखमनजीत सिंह उर्फ मनी है और वह अशोक नगर लुधियाना का रहने वाला है जबकि उसका दूसरा साथी गांव गालिब कलां का रहने वाला जीवन सिंह है।

थाना हठूर प्रभारी हरदीप सिंह ने बताया कि महिला रणजीत कौर के बयानों के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जब सख्ती से पूछताछ की तो आरोपियों ने माना है कि वह पहले भी कई लोगों को ऐसे ही कई बार ठगी कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि पकड़े गए दोनों आरोपियों को अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड हासिल किया जाएगा, जिसके बाद पूछताछ दौरान कई और भी खुलासे होने की संभावना है।