IPL खिलाड़ी पर हमले की VIDEO:लुधियाना में बोतलें चलीं, प्लेयर करण गोयल का सिर फटा; टाउन प्लानर, उसके बेटों और होटल स्टाफ पर FIR

विवेक शर्मा4 महीने पहले

पंजाब के लुधियाना शहर में सिधवां कनाल रोड पर साउथ सिटी स्थित होटल बकलावी बार एंड किचन में देर रात बिल की पेमेंट अदायगी को लेकर बिजनेसमैन परिवार व होटल मालिकों के बीच जमकर मारपीट हुई। मारपीट में कई लोग घायल हुए हैं। मारपीट में IPL का खिलाड़ी गंभीर रूप से घायल हुआ है। घायल खिलाड़ी के सिर में टांके लगे हैं। खिलाड़ी लुधियाना का करण गोयल है।

करण 2008 से 2010 तक KINGS टीम से खेले हैं। करण बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं और ओपनिंग बल्लेबाज रहे हैं। करण इस समय पंजाब किक्रेट सीनियर सिलेक्शन कमेटी के सदस्य हैं। करण गोयल अभी DMC में दाखिल हैं। बताया जा रहा है कि हालांकि उनकी हालत खतरे से बाहर है, लेकिन सिर से खून ज्यादा बहने के कारण अभी करीब 1 हफ्ते तक अस्पताल में रखा जाएगा।

घायल अवस्था में IPL खिलाड़ी करण गोयल ।
घायल अवस्था में IPL खिलाड़ी करण गोयल ।

पूरे विवाद में बकलावी बार एडं किचन के मालिक MTP (Municipal Town Planner) एसएस बिंद्रा, जो इस समय नगर निगम बठिंडा में तैनात हैं, उनके बेटे गुरकीरत बिंद्रा, पुनीत बिंद्रा, होटल के दो मैनेजर अजय व पवन पर धारा 307 व आर्म्स एक्ट के तहत थाना सराभा नगर में FIR दर्ज की गई है।

शिकायतकर्ता राजगुरु नगर निवासी 35 वर्षीय अनिरूद्ध गर्ग ने आरोप लगाया कि आरोपियों ने जान से मारने की नीयत से उन पर लोहे की रॉड, बोतलों से हमला किया। आरोपियों ने उन्हें रेस्टोरेंट में बंदी बना लिया था। इस हमले में करीब 6 लोग चोटिल हुए हैं।

FIR में अनिरूध गर्ग, अरूश जैन निवासी गुरदेव नगर, बृजमोहन निवासी ग्रीन पार्क, रजनीश गर्ग निवासी राजगुरू नगर, करण गोयल, प्रवेश निवासी अमन नगर, संजीव मूंगिया निवासी किचलू नगर के बुरी तरह से जख्मी होने की बात कही गई है।

टूटी बाजू दिखाते संजीव मुंगिया।
टूटी बाजू दिखाते संजीव मुंगिया।

अनिरूद्ध गर्ग ने कहा कि उन्होंने निवेशकों के लिए शुक्रवार रात रेस्तरां में एक पार्टी का आयोजन किया। पार्टी से पहले 70 मेहमानों की सूची रेस्तरां आयोजकों को दी गई थी। अनिरूद्ध गर्ग ने बताया कि पार्टी समाप्त होने के बाद रेस्टोरेंट मालिक ने बिल में कुछ अतिरिक्त पैसे जोड़ दिए।

अनिरूद्ध के मुताबिक पार्टी से पहले बात प्लेट सिस्टम की हुई थी, लेकिन जब पार्टी समाप्त हुई तो आरोपियों ने प्लेट सिस्टम की बजाए प्रति व्यक्ति पैसे लेने की बात कही। इस बात का जब उन्होंने विरोध किया तो आरोपियों ने उनसे मारपीट करनी शुरू कर दी।

अनिरूद्ध के मुताबिक आरोपियों ने रेस्टोरेंट के दरवाजे बंद कर दिए और तेजधार हथियारों से हमला कर दिया। आरोपियों ने उन पर लोहे की रॉड और बोतलों से हमला किया है। गर्ग ने आरोप लगाया कि एसएस बिंद्रा ने उनके पिता पर बंदूक तान दी और उन्हें जान से मारने की धमकी दी।

उन्होंने कहा कि हमले में उनके साथ उनके पिता रजनीश गर्ग, अन्य मेहमान आरुष जैन, खिलाड़ी करण गोयल, परवेश, संजीव मुंगिया भी शामिल हैं। देर रात घायलों को DMC अस्पताल दाखिल करवाया गया। बृज थम्मन की पीठ पर लोहे की रॉ से आरोपियों ने हमला किया।

वहीं उनके दोस्त संजीव मुंगियां की बाजू की हड्‌डी के तीन टुकड़े हमलावरों ने कर दिए हैं। संजीव मुंगिया की बाजू में रॉड पड़ेगी। वहीं करण गोयल, जो IPL क्रिकेट खिलाड़ी है, उसके सिर में टांके लगे हैं। पंजाब सरकार से अपील कि है कि आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाए।

क्योंकि उन्हें कहीं आने-जाने में भी अब रिस्क महसूस हो रहा है। इस झड़प की वीडियो भी खूब वायरल हो रही है। मामले की जांच कर रहे सब-इंस्पेक्टर जसपाल सिंह ने कहा कि धारा 307 , 323 , 342, 148, 149 के तहत मामला दर्ज किया गया है। मामले में अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

मनमीत बिंद्रा द्वारा भेजी गई घायल रेस्टोरेंट कर्मचारी की फोटो।
मनमीत बिंद्रा द्वारा भेजी गई घायल रेस्टोरेंट कर्मचारी की फोटो।

क्या कहना मनमीत बिंद्रा का

पार्टी में सभी लोग शराब के नशे में थे। लगभग 11:30 बजे पार्टी खत्म की, लेकिन 30-35 लोग अभी अंदर ही थे। वे सभी इतने नशे में थे कि वे चल भी नहीं सकते थे। उन्होंने मेरे कर्मचारियों और मेरे प्रबंधकों को गाली देना शुरू कर दिया।

बिंद्रा ने कहा कि मैं ग्राउंड फ्लोर पर किसी मेहमान के साथ बैठा था और मैनेजर आकर रोने लगे। कहने लगे कि सर कुछ लोग हमें बहुत गालियां दे रहे हैं और हम उन्हें संभाल नहीं पा रहे हैं। मैंने उनसे कहा कि आप खुद को सुरक्षित करो। भुगतान के बारे में चिंता मत करो। भुगतान कल कर लेंगे।

इतने में उन लोगों ने प्लेट फेंकना शुरू कर दिया। मैं मौके पर पहुंच गया और उन्होंने हमें गालियां देनी शुरू कर दीं। जिन लोगों ने मामला दर्ज करवाया है, उन लोगों ने हमारे स्टाफ को थप्पड़ मारे और मेरे से भी हाथापाई की।

हालात बिगड़ते देख मैंने अपने भाई को मुझे बचाने के लिए फोन किया, क्योंकि वे लोग हमारी रसोई से चाकू लेने के लिए घुस रहे थे। हमारे ऊपर गलत मामला दर्ज किया गया है। हमारे स्टाफ के सदस्य इस लड़ाई में घायल हुए हैं।