पांच जेलों में 4 साल से बंद हैं 558 मछुआरे:महिलाएं बोली- ‘कहां हो मोदी साहब, हमारे पति कब रिहा होंगे?

राजकोट3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजकोट में गुजरात के मछुआरों को छुड़ाने के लिए प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर परिवारजनों ने सरकार से गुहार लगाई। - Dainik Bhaskar
राजकोट में गुजरात के मछुआरों को छुड़ाने के लिए प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर परिवारजनों ने सरकार से गुहार लगाई।
  • प्रेस वार्ता में सरकार से गुहार, 15 अगस्त को करें रिहा

सौराष्ट्र सहित सैंकड़ों भारतीय मछुआरों की हालत दयनीय हो चुकी है। एक तरफ कोरोना के कारण मछुआरों का बड़ा नुकसान हुआ है वहीं दूसरी ओर अनेक परिवारों के मुखिया पिछले 4 सलों से पाकिस्तान की जेल में बंद है। जिसका असर परिवार को घर चलाना मुश्किल हो गया है। इस संदर्भ में नेशनल फीश वर्कर फोरम तथा गुजरात मछुआरों की संस्था ने पत्रकार वार्ता का आयोजन किया।

इस दौरान पाकिस्तान की जेल में 4 साल से बंद 558 मछुआरों को छुड़ाने के लिए परिवारजनों ने सरकार से गुहार लगाई। वहीं माछीमार महिला ने रोते-बिलखते कहा कि मोदी साहब कहां हो? हमारे पति जेल से कब रिहा होंगे? इस प्रेस कांफ्रेंस में गुजरात के मछुआरों ने घोषणा की कि ग्लोबल वार्मिंग का असर समुद्र में देखने को मिल रहा है, यही वजह है कि इतिहास में पहली बार 15 अगस्त की जगह 1 सितंबर से मछली पकड़ने की शुरुआत होगी।

मोदी साहब हमें आपसे उम्मीद हैं
महिला ने कहा कि मेरे पति पिछले 4 साल से पाकिस्तान की जेल में बंद है। 15 अगस्त को देश आजादी का पर्व मनाएगा। ऐसे में मेरे पति को भी आजाद कराए। हमें कोई सहायता नहीं चाहिए, सिर्फ हमारे पति चाहिए। हमने गृहमंत्री से नरेंद्र मोदी तक गुहार भी लगाई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। हमारे छोटे-छोटे बच्चे है हम कैसे घर चलाएं। हमने जूनागढ़, दीव और अनेक स्थानों पर अधिकारियों से गुहार लगाई। मै फिर कहती हूं कि मोदी साहब पर हमें उम्मीद है और उम्मीद है। हमारे परिवारजनों को छुड़ाएं।

22 बोट छुड़ाने का आश्वासन दिया था
दोनों देशों को अच्छी तरह से रखरखाव वाली मछली पकड़ने वाली नौकाओं के साथ-साथ कुछ मरम्मत के साथ फिर से मछली पकड़ने वाली नौकाओं को छोड़ना चाहिए। 2015 में, पाकिस्तान ने 57 नावों को छोड़ा और 22 अन्य नावों को छोड़ने का वादा किया। लेकिन नाव अभी तक जारी नहीं की गई है।

पाकिस्तान अब तक 1,200 से अधिक भारतीय नौकाओं को जब्त कर चुका है और भारत ने पाकिस्तान से अनुमानित 300 मछली पकड़ने वाली नौकाओं को जब्त कर लिया है। कोरोना के कारण मछली पकड़ने का नुकसान, दूसरी तरफ परिवारके मुखिया के जेल में बंद होने से कई परिवार आर्थिक संकट में हैं।

खबरें और भी हैं...