• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Moga
  • 10 Thousand People Stopped At Gobindghat, Sent The Registrants Forward, Walked 13 Km Amidst Snowfall

श्री हेमकुंड साहिब के कपाट खुले:10 हजार लोगों को गोबिंदघाट में रोका, रजिस्ट्रेशन वालों को आगे भेजा, बर्फबारी के बीच 13 किलोमीटर पैदल चल पहुंचे

मोगा/रोपड़/ पठानकोटएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हेमकुंड साहिब के सरोवर में अब भी जमी है बर्फ। - Dainik Bhaskar
हेमकुंड साहिब के सरोवर में अब भी जमी है बर्फ।

गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब के कपाट रविवार सुबह 10 बजे विधि विधान से खोल दिए गए। पांच प्यारों की अगुवाई में 5 हजार श्रद्धालु इस क्षण के साक्षी बने। इससे पहले सुबह 9 बजे श्री गुरु ग्रंथ साहिब को दरबार साहिब में लाया गया। गुरुद्वारा ट्रस्ट के उपाध्यक्ष नरिंदरजीत सिंह बिंद्रा ने बताया कि श्रद्धालुओं के लिए व्यवस्थाएं कर दी हैं। रविवार को अधिकतम तापमान 12 व न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस रहा। हर श्रद्धालु के लिए रजिस्ट्रेशन व वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट जरूरी किया गया है।

पटियाला के आकाशदीप ने बताया, हम 8 साथी वीरवार रात 12 बजे बाइक पर चंडीगढ़ से चले। शुक्रवार को सिरमौर के रास्ते 10 बजे ऋषिकेश पहुंचे। शुक्रवार शाम तक नगरासू पहुंचे। ऋषिकेश से गोबिंद घाट के बीच काम जारी है। यहां बाइक-बैग जमा करवा 13 किमी पैदल यात्रा शुरू की। बारिश से बीमार साथियों ने गुरुद्वारा गोबिंद धाम में डिस्पेंसरी से दवा ली। अगले दिन सुबह करीब 10 बजे पैदल यात्रा शुरू की। आखिरी के तीन किमी. क्षेत्र में बर्फबारी जारी थी। वाहेगुरु की कृपा से हम पहुंच गए और दर्शन किए।

सुजानपुर (पठानकोट) के लेखराज ने बताया, मैं ऋषिकेश से टैक्सी से 9 घंटे का सफर कर गोबिंदघाट पहुंचा। 10 हजार लोगों को यहां रोका गया है। रजिस्ट्रेशन वाले 5 हजार लोगों को आगे भेजा गया। शनिवार शाम को बर्फबारी के बावजूद श्रद्धालुओं के हौसलों में कोई कमी नहीं आई। रविवार सुबह 10 बजे कपाट खुले। रागी भाई मोहकम सिंह व साथियों ने कीर्तन किया। गढ़वाल स्काउट व पंजाब के बैंड ने धुनें बजाईं। निशान साहिब के वस्त्र भी बदले गए।

खबरें और भी हैं...