मीटिंग:सरकारी ग्रांट जारी न होने के कारण स्कूलों में मिड- डे मील बंद होने की कगार पर

मुक्तसर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आम आदमी पार्टी की सरकार को हर फ्रंट पर फेल जोन जा रही है। सरकारी व एडिड स्कूलों में पढ़ते लाखों विद्यार्थियों को मिड डे मील के तहत दोपहर का भोजन मुहैया करवाने के लिए आती कुकिंग कास्ट गत 2 माह से नहीं आई और तीसरा माह भी आधे से अधिक बीत जाने के बावजूद अभी तक राशि नहीं पहुंची।

यह बात डेमोक्रेटिक टीचर फ्रंट पंजाब के प्रांतीय अध्यक्ष विक्रम देव सिंह व महासचिव मुकेश कुमार अवस्थी ने एक मीटिंग दौरान कही। उन्होंने कहा कि सरकारी ग्रांट न आने के कारण अध्यापक अपने पास से मोल लेकर या फिर उधर लेकर मिड डे मील चलाने के लिए मजबूर हो रहे हैं। दूसरी ओर अब दुकानदार भी सामान उधार देने से जवाब देने लगे हैं।

इसी तरह मिड डे मील के तहत कार्य करते हजारों वर्करों को भी गत 2 माह से मेहनताना नहीं प्राप्त हुआ। नेताओं ने कहा कि अगर जल्द ही कुकिंग कोस्ट जारी नहीं की जाती तो अध्यापक मिड डे मील बंद करने के लिए मजबूर होंगे और इसके लिए पूरी जिम्मेवारी पंजाब सरकार की होगी। इसलिए पंजाब सरकार को बिना देरी कुकिंग कास्ट जारी की जाए। इस अवसर पर गुरप्यार सिंह, राजीव कुमार, जगपाल, रघुबीर, जसविंदर, हरजिंदर सिंह, दलजीत, कुलविंदर सिंह, नछतर सिंह, रूपिंदर पाल गिल, तेजिन्दर सिंह, सुखदेव सिंह उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...