पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • 1 Lakh People Were Cured In Punjab, 47% Of Them Beat Corona At Home; In First 50 Thousand 165 Days, In Second 50 Thousand 25 Days Ok

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फतेह:पंजाब में 1 लाख लोग ठीक हुए, इनमें 47% ने घर में ही कोरोना को हराया; पहले 50 हजार 165 दिन में, दूसरे 50 हजार 25 दिन में ठीक

लुधियाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सुखद खबर...पंजाब में कोरोना से ठीक होने वालों का आंकड़ा 1 लाख पार हो गया है। 14 दिन आइसोलेट रहने वाले बड़ी संख्या में लोगों से भास्कर ने बात की। इस दौरान उन्होंने कई हृदयस्पर्शी लम्हें साझा किए जो सभी के लिए सीख हैं। अक्सर जो बातें बहुत छोटी लगती हैं... मुसीबत के वक्त वही लाख टके की सीख नजर आती हैं।

  • लाख टके की सीख

परिवार को सेविंग बता दूं

जालंधर के निजी कंपनी के कर्मचारी ने बताया- जब मैं पॉजिटिव आया तो चिंता हुई अगर मुझे कुछ हो गया तो परिवार और बच्चे के भविष्य का क्या होगा? पत्नी को सारे बैंक, डीमैट खाते, लॉकर में रखे सामान की जानकारी नोट करवाई। ग्रेस पीरियड में चल रही बीमा पॉलिसी का भुगतान किया। प्रापर्टी और लेनेदेन की भी जानकारी दी, हालांकि पत्नी हिम्मत बढ़ाती रही, अब ठीक हूं। सबक ये है कि सारी फाइनेंसियल जानकारी परिवार को होनी ही चाहिए।

बेटे को कारोबार समझा दूं

बटाला के कारोबारी ने बताया- कपड़ों का बड़ा कारोबार है, 20 मई को पॉजिटिव आ गया। सीधे अस्पताल ले जाया गया। मेरा बेटा ग्रेजुएशन कर रहा है। सबसे पहले फोन पर बेटे को कारोबार के बारे में समझाना शुरू किया। कहां से कपड़ा लाना है- कैसे बेचना है। सभी तरीके बताए। अब ठीक हो गया हूं, मेरा मानना है कि आप जो भी कारोबार कर रहे हों उसे किसी न किसी सदस्य को जरूर समझाकर रखें।

रिश्ते-परिवार ही सबसे पहले

पठानकोट की हेल्थ वर्कर ने बताया- मैं मरीजों के बीच रहते-रहते पाॅजिटिव आ गई। छोटे-छोटे दो बच्चे हैं। घर का राशन भी एडवांस नहीं पड़ा था। पति और मैं आईसोलेट हो गए। परिवार और रिश्तेदार राशन, दूध व दवाएं पहुंचाते रहे। फोन कर हाल पूछते। इस दौरान रिश्तेदारों की अहमियत समझ में आई। कैसी भी परिस्थिति हो परिवार और रिश्तेदारों से हमेश जुड़े रहो। ऐसे लोगों को भी फोन किया जिनसे बरसों से बात नहीं हुई थी। विपत्ति में वे जरूर काम आते हैं।

ऐसा लगा, दोस्त होने चाहिए

जालंधर में 17 दिनों तक आइसोलेशन रहा। शुरू के एक-दो दिन बिल्कुल अकेलापन महसूस हुआ। ऐसा लगा दोस्त जरूर होने चाहिए। दो-तीन दिन बाद हाल-चाल जानने को कई मित्रों के फोन आने लगे। कुछ मित्र घर भी पहुंचे, दूर से मिले। विचार आया कि जो हाल पूछ रहे हैं, शायद वही अच्छे मित्र हैं। कोरोना होने पर घर में कैद जरूर रहा पर संबंधों को गहराई से समझने का मौका मिला।

लापरवाही भूल नहीं, गुनाह है

लुधियाना के कारोबारी का कहना है कि हम कारोबार में लोगों से मिलते रहे, मास्क पहनने में भी लापरवाही बरती। इसकी हमें सजा मिली, आठ लोगों के परिवार में 3 पॉजिटिव आ गए। घर डिस्टर्ब हो गया, ऐसा लगा कि अब सब खत्म हो जाएगा। लेकिन ऊपर वाले का ध्यान किया मिलने जुलने वाले हिम्मत बंधाते रहे, सब ठीक हो गया। ये सबक मिला कि कोरोना काल में लापरवाही सिर्फ भूल नहीं है, एक गुनाह है। यदि ऐसा करोगे तो बड़ी सजा भुगतोगे।

आस-पड़ोस में मिलते रहिए

बठिंडा निवासी सरकारी कर्मचारी का कहना है कि जब मैं पॉजिटिव आया तो यह जानकारी पूरी गली को मिल गई। सुना था कि पॉजिटिव आने वालों से लोग दूरी बना लेते थे। मुझे भी ऐसा लगा, पर हमारी गली के सभी लोगों ने साथ दिया। वे समय-समय पर घर आते रहे, दूर से हिम्मत बढ़ाते रहे। इससे यह अहसास हुआ कि मुहल्ले और आस पड़ोस में मिलते रहना जरूरी है, ताकि अकेलापन न रहे।

रिकवरी रेट 85.51% हुआ

सूबे में रविवार को 1509 मरीजों के ठीक होने के बाद बाद अब तक 1,00,977 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। इनमें 47.50% यानी 47,502 मरीज घर में ही कोरोना से ठीक हुए हैं। पहला मरीज 9 मार्च को आया था। 29 मार्च को पहला मरीज ठीक हुआ था। मई में ठीक होने की रफ्तार बढ़ी तो पंजाब 87% रिकवरी के साथ देश में टॉप-5 में था।

अगस्त में रिकवरी रेट 64% तक आ गया था। हालांकि सितंबर में रिकवरी रेट 81% हो गया। 9 सितंबर तक 50 हजार ठीक हो चुके थे। अगले 25 दिनों में 50 हजार और मरीज ठीक हुए और रिकवरी रेट 85.51% हो गया है। वहीं, रविवार को 910 केस आए और 46 की मौत हुई। कुल मरीज अब 1,18,075 और मृतकों की संख्या 3625 हो गई है।

ठीक होने का सफर

दिनमरीज ठीक
29 मार्च1
28 अप्रैल100
29 जुलाई10,000
9 सितंबर50,000
4 अक्टूबर1,00,000

यहां सर्वाधिक ठीक हुए

जिलामरीजठीकप्रतिशत
लुधियाना18,4941687291.22
जालंधर133501161987.03
पटियाला118591050188.54
अमृतसर10489904286.20

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपका कोई भी काम प्लानिंग से करना तथा सकारात्मक सोच आपको नई दिशा प्रदान करेंगे। आध्यात्मिक कार्यों के प्रति भी आपका रुझान रहेगा। युवा वर्ग अपने भविष्य को लेकर गंभीर रहेंगे। दूसरों की अपेक्षा अ...

और पढ़ें