पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • 144 New Infected, 3 Killed Including 5 From Adampur, 4 From Chhota Saipur And 2 2 From 7 Areas

कोरोना वार:आदमपुर से 5, छोटा सईपुर से 4 और 7 इलाकों के 2-2 लोगों समेत 144 नए संक्रमित, 3 की मौत

जालंधर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मरने वालों में से दो को ब्लड प्रेशर जबकि तीनों को शुगर भी थी

जिले में वीरवार को 144 नए संक्रमित सामने आए हैं, जिनमें से 134 को जिले के आंकड़े में जोड़ा गया जबकि 10 बाहरी जिलों में रहने वाले हैं। वहीं तीन मरीजों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इनमें से दो को ब्लड प्रेशर और तीनों को शुगर थी। तीनों का इलाज प्राइवेट अस्पतालों में चल रहा था। अब तक संक्रमितों की कुल संख्या 18812 हो चुकी है जबकि मृतकों का आंकड़ा 594 तक पहुंच चुका है। वीरवार को नए संक्रमितों में आदमपुर से 5, छोटा सईपुर से 4, जनता काॅलोनी, दीप नगर, नानक नगर, टैगोर नगर, सिल्वर हाइट्स, दीन दयाल उपाध्याय नगर, काला बकरा से 2-2 मरीज मिले हैं।

संक्रमितों में तीन परिवारों में ही 2-2 मरीज मिले हैं। इसके अलावा फोकल पाॅइंट, न्यू ग्रीन माॅडल टाउन, मास्टर तारा सिंह नगर, गांधी नगर, गांधी कैंप, न्यू जवाहर नगर, सब्जी मंडी जालंधर, शेखे पिंड, लिंक रोड, जोनल आडिट ऑफिस, शहीद ऊधम सिंह नगर, दिलबाग नगर एक्सटेंशन, खिंगरां गेट, गुरु गोबिंद सिंह एवेन्यू, न्यू विवेक विहार, फ्रेंड्स काॅलोनी, महाराजा रंजीत सिंह नगर, कालिया काॅलोनी में भी संक्रमितों की पुष्टि हुई है

डॉक्टरों की हिदायत- अपना ध्यान रखें-कोरोना थम नहीं रहा। लगातार संक्रमित और मृतकों की गिनती बढ़ती जा रही है। ऐसे में सेहत विभाग के डॉक्टरोें ने कहा है कि लोग मास्क का जरूर इस्तेमाल करें, भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से गुरेज करें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। फिलहाल यही इलाज है।

प्राइवेट अस्पतालों की ओपीडी सुबह 6 से शाम 6 बजे तक बंद सिविल में मिलती रहेंगी सेवाएं-इंडियन मेडिसिन सेंट्रल काउंसिल की डेंटल के पीजी डॉक्टरों को जनरल सर्जरी और अन्य एलोपैथी की 58 प्रकार की मेडिकल प्रेक्टिस करने की मंजूरी देने का इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने विरोध जताया। इसी विरोध के चलते आईएमए की तरफ से शुक्रवार को प्राइवेट अस्पतालों में कोविड-19 के इलाज के अलावा अन्य ओपीडी में रेगुलर चेकअप और प्लांड सर्जरी नहीं की जाएगी। आईएमए के जिला प्रधान डॉ. पंकज पाल का कहना है कि इसके अलावा इमरजेंसी में आने वाले मरीज का केवल इमरजेंसी में इलाज किया जाएगा। जबकि कोरोना पेशेंट को प्राथमिकता दी जाएगी। दूसरी तरफ आईएमए के इस बंद के फैसले का सिविल अस्पताल की ओपीडी पर असर नहीं होगा। सिविल अस्पताल में रोजाना की तरह मेडिसिन, सर्जरी, गायनी, ईएनटी, ऑर्थो के अलावा बाकी सभी बीमारी के स्पेशलिस्ट डॉक्टर ओपीडी रेगुलर रखेंगे।

खबरें और भी हैं...