पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • 8th Election Of Ludhiana Club, Formed In 1904, Will Be The Oldest Voter Aged 85 Years

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चुनाव:1904 में बने लुधियाना क्लब का 8वां चुनाव 13 को, 85 साल के रेखी होंगे सबसे बुजुर्ग वोटर

सुनील| लुधियाना21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अंग्रेजों के जमाने में 1904 को बने लुधियाना क्लब में 13 फरवरी को चुनाव होने जा रहे हैं। यह क्लब का 8वां चुनाव होगा। जिसकी तैयारियां जोरों से चल रही हैं। क्लब का पहला चुनाव सन 1975 में हुआ। सन् 2007 में अंतिम बार चुनाव हुआ था। जिसके बाद आज तक चुनाव नही हो पाया। बीते साल भी अप्रैल में चुनाव करवाए जाने थे। लेकिन, लॉकडाउन के कारण नहीं कराए जा सके। अब चुनावों की घोषणा पर सदस्यों में जोश की देखने लायक है। क्लब की बड़ी खासियत यह भी है कि इसमें कई मैंबर ऐसे हैं, जाेकि 50 सालों से इस क्लब की साथ जुड़े हैं। क्लब में सबसे पुराने व सबसे बुजुर्ग सदस्य 85 साल के जीएस रेखी हैं।

प्रधान समेत 9 पदों पर होगा चुनाव -इस बार चुनावों में प्रधान, उप-प्रधान, जनरल सेक्रेटरी, जाॅइंट सेक्रेटरी, ट्रईयर, क्लचर व स्पोर्ट्स सेक्रेटरी, बार सेक्रेटरी, मैस सेक्रेटरी और एग्जिक्यूटिव मेंबर के पदों के लिए चुनाव लड़ने वाले क्लब के मेंबरों ने अपने नामांकन भरने शुरू किए हैं। यह नामांकन शनिवार शाम 6 बजे तक ही भरे जाने हैं।

सात तारीख दोपहर 3 बजे तक नामांकन वापस लेने का समय है। इसके बाद चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों की लिस्ट फाइनल होगी। वोट वाले दिन िरजल्ट शाम को ही घोषित किया जाना है। 1 हजार मेंबरों वाले इस क्लब में करीब 800 सदस्यों को ही वोट डालने का अधिकार है। बाकी सदस्यों के क्लब को देनदारी खड़ी होने के कारण वोट नहीं डालने दिया जाएगा। वोट वाले दिन भी नो ड्यू लेकर वोट डाली जा सकेगी।

1000 मेंबरों वाले इस क्लब में स्वीमिंग पूल, जिमखाना और पार्क समेत तमाम सुविधाएं-

शहर के बीचोंबीच रख बाग के सामने बने इस क्लब में बीते 6 साल पहले क्लब में स्वीमिंग पूल बनाया गया है। क्लब में परोसा जाने वाला सस्ता और बढ़िया खाना भी यहां की बड़ी खूबियों में से एक है। क्लब के बार सेलेड से लेकर शाकाहारी व मांसाहारी खाने समेत लिक्कर भी काफी सस्ते भाव में परोसी जाती है। इसके अलावा क्लब में मेंबरों के लिए बियर बार, किट्टी हाल, रूम, सेलिब्रेशन हॉल, रेस्टोरेंट, रम्मी रूम, जिमखाना, बड़ा पार्क भी है।

क्लब का इतिहास: मेंबरों के मुताबिक क्लब को अंग्रेजों ने 1904 को बनाया था। तब इस क्लब में गुरु नानक स्टेडियम, नगर निगम कमिश्नर की कोठी व महिलाओं का क्लब लुधियाना क्लब का ही हिस्सा हुआ करते थे। समय के साथ-साथ इस क्लब से ही गुरुनानक स्टेडियम, नगर निगम कमिश्नर की कोठी को व महिलाओं के क्लब को जगह दी गई। मौजूदा समय में लुधियाना क्लब 1904 में बने क्लब का मात्र करीब 25 फीसदी जगह पर ही है।

बैरल बार भी क्लब की खासियत: क्लब के सदस्यों के मुताबिक क्लब के पार्क में बनाया गया बैरल बार भी यहां की खासियत है। सदस्यों ने बताया कि पूरे भारत में मात्र 14 बैरल बार हंै। इसमें एक लुधियाना क्लब में है। लकड़ी के बने इस बैरल बार में बड़े बार के बराबर सारी सुविधाएं हैं। इस बार को देखने भी लोग दूर-दूर से आते हैं।

मैं लुधियाना क्लब से 1962 से जुड़ा हूं और तब से लगातार इसी क्लब का मेंबर रहा हूं। क्लब के हर बड़े फैसले में पूरा टीम वर्क देखने को मिलता है। यहां आकर एक अलग से संतुष्टि मिलती है। यहां के सारे मेंबर अब परिवार सा लगता है और अपनापन महसूस होता है।-जीएस रेखी

क्लब से जुड़े हर व्यक्ति के साथ लगाव है। क्लब के जनरल सेक्रेटरी पद पर रह क्लब में कई सुधार किए हैं। अब भी चुनाव में उन्हीं लोगों को हिस्सा लेना चाहिए, जो क्लब के लिए समय निकाल सकें। समय देना वाला सदस्य ही क्लब की खामियों को दूर कर सुधार कर सकता है। -केएल अरोड़ा

इस क्लब में आकर स्कून मिलता है। यहां पर पुराने दोस्त, उनके साथ हंसी मजाक व शांति मिलती है। क्लब गेम, बढ़िया खाना व सदस्यों को खुशनुमा व्यवहार ही यहां खींच लाता है। मैं इस क्लब के साथ सन् 1991 से जुड़ा हूं और इस बार भी वोट डालने आउंगा।-जोगिंदर सिंह

अब तक क्लब में बड़े सुधार किए हैं। क्लब में गेम, जिम, स्वीमिंग पूल, जैसी सुविधाएं लाकर सदस्यों को मनोरंजन का साधन दिया है। रोजाना क्लब में आकर यहां की हर छोटी से छोटी कमी को दूर करना मेरी दिन चर्चा बन चुका है। क्लब का हर मेंबर एक दूसरे से जुड़ा है और परिवार की तरह रहता है। क्लब के सुधार के लिए और भी कई बदलाव किए जाने हैं।-केके छाबड़ा




खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें